वह ब्रांड, जो आप हैं – व्यक्तिगत ब्रांडिंग

6. The Brand Called You (low res)

ब्रांडिंग उतनी ही पुरानी है जितनी की स्वयं मानवता।

यह केवल 20 वीं शताब्दी के बाद हुआ जब विपणक और विज्ञापन विशेषज्ञ यह समझने लगे थे कि वे विशिष्ट गुणों और अपने उत्पादों की विशेषताओं से उपभोक्ताओं के मन में विशिष्ट धारणा बना सकते हैं, जो इससे पहले तक केवल किसी नाम के लेबल भर थे और सामान्य उत्पाद के रूप में उपस्थित थे।

इन विशेषज्ञों ने इस “धारणा” को “ब्रांड” कहना शुरू कर दिया।

ब्रांड एक कहानी है जिसे हमेशा बताया जाता रहा है।

पर्सनल ब्रांडिंग अपने बारे में जो सच और अनोखा है उसे उजागर करने और हर उस व्यक्ति को बताने के बारे में है जो इसके बारे में जानता है।

आपका नाम, आपका ब्रांड अपने ख़ास प्रभामंडल के साथ होता है जिसके वलय में पहले आप स्वयं आते हैं, उसके बाद आपका परिवार, तदुपरांत आपका समुदाय और फिर वह वृहत समाज जिसमें आप रहते हैं। आपके द्वारा चयनित प्रभाव वलय के मूल्य आपके ब्रांड में होने चाहिए।

व्यक्ति के रूप में अपने जीवन के प्रत्येक चरण मे आप खुद को लगातार मजबूत करते रहे हैं। किसी ब्रांड को उसके लक्षित श्रोताओं/दर्शकों द्वारा व्यक्तिगत अनुभव, संचार और प्रभाव के आधार पर देखा जाता है।

यही इसकी सफलता या विफलता को निर्धारित करता है। हममें से हर एक पर यही बात लागू होती है। हम समाज में और हमारे “लक्षित श्रोताओं/दर्शकों” के साथ कैसे बने रहते हैं, यही इस बात को निर्धारित करता है कि हम कितने मूल्यवान हैं या हो सकते हैं। आपका व्यक्तिगत ब्रांड आपका व्यावसायिक डीएनए है। यह आपका पेशेवर जीन अनुक्रम है।

हर सफल व्यक्ति ने बड़ी मेहनत से अपने ब्रांड का नाम बनाया है।

याद रखें कि आपका नाम एक ब्रांड है जिसे आप वास्तव में अपना मानते हैं। आप अद्वितीय हैं। आप उतने ही अद्वितीय हैं, जैसे कि आपकी अंगुली की छाप (फिंगरप्रिंट) या आपका रेटिना स्कैन या आपका जीन अनुक्रम।

आपके नाम के साथ आपका ब्रांड आपके कर्मों और निवेशों के माध्यम से एक ब्रांड के रूप में आपके जन्म प्रमाण पत्र के माध्यम से पंजीकृत किया गया है और वह आपके व्यक्तित्व के लिए पेटेंट किया गया है, भले ही आपके समान नाम वाले सैकड़ों दूसरे लोग भी हों।

आपके जैसा दुनिया में कोई और नहीं है और इसलिए आपको अपने आप को अपने वातावरण में निवेश करना होगा और अपने कामों और कार्यों के ज़रिए अपने खुद के ब्रांड को पहचान और सम्मान दिलाना होगा। आपकी पहुँच जितनी अधिक होगी, आपके ब्रांड को इस तरह के उतने ही अधिक निवेश की आवश्यकता होगी। जितना आपका ब्रांड अधिक प्रसिद्ध और बड़ा होता चला जाएगा, भविष्य में उसके आलोचनीय होने की आशंका भी उतनी ही अधिक होगी।

आपके लिए यह जानना अधिक से अधिक विकट होता चला जाएगा कि आपके द्वारा उठाया हर कदम या आपका दिया हर बयान, आपके द्वारा की गई प्रत्येक ट्वीट, आपके द्वारा पोस्ट की गई प्रत्येक तस्वीर, आपके द्वारा लिखा गया प्रत्येक ब्लॉग, आपकी पसंद की हर पोस्ट, जिसे आप लिखते या साझा करते हैं, आपके द्वारा दी गई हर राय किसी के द्वारा पढ़ी जा रही है और उसकी व्याख्या हो रही है। आप यह जान भी नहीं पाते कि आपके हर काम का प्रभाव या आपका हर काम ‘ब्रांड आप’ के मूल्य को बढ़ा या घटा रहा है। आपके व्यक्तिगत ब्रांड को बनाना, तैयार करना और उसका विकास करना केवल आपके हाथों में ही है। इसी के साथ, ठीक इसके विपरीत, अपने खुद के ब्रांड को नष्ट करना या कम करना भी केवल आपके ही हाथों में है।

आप अपने खुद के ब्रांड नाम के साथ क्या कर सकते हैं, तो या तो उसे बहुत सफल बना सकते हैं या उतना सफल नहीं कर सकते हैं, बस इस अंतर को पाटना है। यह व्यक्तिगत ब्रांडिंग के लिए भी उतना ही सही है जितना कि बिजनेस ब्रांडिंग के लिए। आपका ब्रांड आपकी अपनी अनूठी कहानी का सार है। एक कुंजी है जो आपके खुद के भीतर गहराई तक पहुँच रही है और प्रामाणिक, अद्वितीय “आप” को अपने स्वयं के भीतर से बाहर खींच रही है।

अन्यथा, आपका ब्रांड सिर्फ एक बहाना होगा और आप खुद विस्मित होंगे कि क्या आप उस बहाने के पीछे छिपे व्यक्ति को पहचानते हैं, जो स्वयं आप हैं।

आपके पास आपके द्वारा चुने गए करियर पथ को बनाने की स्वतंत्रता है। ऐसा रास्ता जो आपकी प्रतिभा और रुचियों को उस स्थिति से जोड़ेगा जिसमें आप फिट हैं। आपमें अपने कैरियर में ऊँचा उठने और विस्तार पाने (लंबवत और क्षैतिज रूप में) की क्षमता होनी चाहिए।

आज जो नायक है, वह आने वाले कल में शून्य हो सकता है या इसके विपरीत भी हो सकता है कि जो आज ज़ीरो है, वह कल हीरो बन जाए।

आपके ब्रांड का मूल्य ताउम्र उतार-चढ़ाव से गुज़रेगा। सफ़लतम वर्ष बीतने के बाद बड़े पैमाने पर होने वाली वेतन वृद्धि के बारे में बातचीत करने की आपकी क्षमता से अधिक आपकी क्षमता इसमें होनी चाहिए कि एक ख़राब साल बीता हो और आपके लक्ष्य पूरे न हो सके हों, तब आप क्या करेंगे।

आपके अपने ब्रांड का मूल्य वह है जो आपको वह कीमत देगा जो आप चाह रहे हैं। अच्छी तरह से बने आपके ब्रांड से आप पा सकते हैं कि प्रतिष्ठित पदोन्नति या अगली वरिष्ठ नौकरी। यह ब्रांड मूल्यांकन आपको यह निर्धारित करने में भी मदद कर सकता है कि आप अपने लिए क्या पाने में सक्षम हैं, जिस कारण आप और आपका नाम किसी और के व्यवसाय में जुड़ सकता है। यह आपके समाज में, आपके देश या पूरी दुनिया में मान्यता और स्वीकृति के रूप में भी हो सकता है।

कोई फिल्म स्टार लगातार दो हिट फिल्में देने के बाद बड़ी फीस की मांग कर सकता है, लेकिन उसे भी तब अपनी कीमतों को गिराना होगा या शायद लगातार तीन फ्लॉप फिल्मों के बाद किसी के लिए बिना पैसे लिए भी काम करना पड़ सकता है! जब तक आप अपने आपको और अपनी स्वयं की वास्तविकता को नहीं पहचानते और स्वीकार नहीं करते हैं, तब तक आपके अपने ब्रांड के बारे में बहुत कुछ नहीं कर सकते हैं। सरकार या कॉरपोरेट जगत के बहुत से लोग अपने करियर में जैसे-जैसे आगे बढ़ते हैं, यह मानने लगते हैं कि उनके संगठन के ब्रांड की पहचान उनके अपने ब्रांड नाम से है। जिसका सत्य से वास्तव में दूर-दूर तक कोई संबंध नहीं होता है।

जब कोई कॉर्पोरेट प्रबंधक या सरकारी अधिकारी किसी मीटिंग (बैठक) के लिए अपना विजिटिंग कार्ड भेजता है, तो वह उस कंपनी या संस्थान के नाम का होता है जिसकी पहचान है और उसके लिए बैठक के द्वार खोले जाते हैं। कई सारे सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी और कॉर्पोरेट प्रबंधक यह स्वीकार नहीं कर पाते कि सेवानिवृत्ति के बाद उनकी अपनी पहचान खो गई है। वे “पूर्व अध्यक्ष” या सरकार के “पूर्व सचिव” के रूप में अपनी पहचान बनाए रखना चाहते हैं। यह कठिन और कमजोर धागा है जो उन्हें उनकी कथित पहचान से जोड़ता है और लोग इस बात को छोड़ नहीं पाते कि वह धागा सेवानिवृत्ति के दिन ही टूट चुका है।

आपके व्यक्तिगत ब्रांड को बनाते हुए कभी भी अहंकार को बीच में नहीं आने देना चाहिए। आपके ब्रांड के मूल्य में आपको बड़ी कुशलता से इस बात को बुनना चाहिए कि वह भौतिक रूप और व्यक्तिगत अहंकार से परे होना चाहिए।

जीवन का चक्र जारी रहेगा, और आपका व्यक्तिगत ब्रांड अपने कद और मूल्य के साथ उसी तरह बढ़ता रहेगा।

याद रखें कि दुनिया में आपके बाद आपके पीछे आपकी जो विरासत रहेगी वह केवल आपका नाम होगा और होगा- ‘आप ब्रांड’।

*******************

लेखक कार्यकारी कोच और एंजेल निवेशक हैं। राजनीतिक समीक्षक और टीकाकार के साथ वे गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। वे 6 बेस्ट सेलर पुस्तकों – द ब्रांड कॉल्ड यू- The Brand Called You रीबूट- Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; द कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; द बक स्टॉप्स हीयर- The Buck Stops Here – लर्निंग ऑफ़ अ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and द बक स्टॉप्स हीयर- माय जर्नी फ़्राम अ मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं।

  • ट्विटर : @gargashutosh                                                          
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56                                                     
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

New Year Resolutions for Retirees!

2. Reboot. Reinvent. Rewire Managing Retirement in the Twenty First Century

The New Year is around the corner and it is time for thinking of those resolutions again! Whether you resolve to be fitter and healthier, connect more socially or to tick off some points on your bucket list, this is a time to take stock of the year gone by and to think of the year ahead.

Given below are some thoughts and you could consider adding some or all to your list of New Year resolutions.

Eat better for your Health

Take your health into your hands. Change your eating pattern. Take baby steps toward eating right. After all, if you have been careless with your food habits, you cannot change these overnight.

Less fats, more fibre with a healthier mix of fruits, vegetables and nuts is always advisable for most people. As seniors, it becomes even more important and relevant for us to regulate our diet. Eat smaller meals more often. Most experts recommend eating 5 times a day but with reduced quantities. As some wise people say, “stop eating just before you are full!” Others say that at least half of your plate should be fruits and vegetable.

Add a mix of vitamins and supplements to your diet to balance what you are not receiving through your normal diet.

Remember that eating better is the only answer to reducing your weight.

Find a New, Healthy Activity

As we get older, whether we have been active earlier or not, now it is much more important to be active. Build exercise or yoga into your daily routine. A round of tennis or golf, a brisk walk for at least 30 minutes every day (150 minutes per week of walking is the minimum recommended), yogic breathing exercises, swimming or cycling would be great to get into your daily schedule.

I have met several seniors who have started running and competing with people of their own age. In the process of staying fit, they have also found a whole new community of like-minded and passionate friends. It is best to experiment and find the right activity for your personality and activity level.

Complete some points in your Bucket List

Give yourself a break. You have earned this. Over the years, all of us have been adding to our bucket list. This list has kept getting longer since we were not able to find the time during our work life.

Resolve to tick off at least two significant items on your bucket list in the coming year.

Connect More with Friends and Family

Re-establish old connections that you lost while you were busy at work. Don’t wait for someone else to take the first step. Once start to reach out to your family and friends, you will be surprised at how much warmth you will receive. It is interesting to see how many people are rediscovering their old school and college friends using Facebook and LinkedIn.

Weekly lunches or coffee mornings with a group of friends, WhatsApp or Skype calls with your family members spread across the World are great ways of re-connecting. Time spent talking and laughing with those that mean the most is time well spent.

Reduce your belongings

Resolve to clean out your closets and your home. Think of the difference between “want” and “need” before you start this exercise. Keep things you need and give away those you want. This may sound philosophical but try and give away whatever you have not used for the past one year. Your challenge will always be “what if” you suddenly need the item again. If you decide to give it away, keep this as an active resolution till the next year and then assess whether you felt the need for the item(s) you gave away. Chances are that you will never miss these items.

In addition, this will start a process of de-cluttering your belongings and clearing up your home over a period of time.

Brush Up on New Technology

Technology, as you are well aware, is changing our World. If you have not already understood the many forms of communication and connection through Facebook, Twitter, LinkedIn, Instagram, YouTube and so many others it is time to do so now. Get familiar with the operating systems of your phones and other devices. Learn and understand these platforms since more and more of our lives will revolve around applications being developed on such platforms and around such communication medium.

To brush-up your own knowledge and skills, there are on-line tutorials for every possible question that you may have. You can also request a younger person at home or in your neighbourhood to tutor you.

Tell Your Story

You have had a wonderful and fulfilling life and now is the time to tell your story. Write your blog and publish it on a daily or weekly basis. Think of all the anecdotes in your life and write about these. Think of the milestones in your career and the time you spent as a child and record these. Think of your parents and your extended family and store these memories carefully in writing.

If you are not comfortable with writing out your blogs, dictate these into your mobile phone. Most phones now have the feature of “voice to text” which should quickly convert your voice recording. If this too does not work, send the recording to anyone who will transcribe it for a very small fee. A dictated blog will also preserve your voice for posterity.

Not only will this record your own memories and thoughts, this could also become a record of your family history for the future generations.

Give your brain a workout

The more you exercise your brain, like your body, the stronger it will be. Remember that diseases of the brain like Dementia and Alzheimer’s are increasing.

Read more and beyond your daily newspaper. Join or start discussion groups on subjects that interest you. Try Sudoku, Chess, Quiz Up or Scrabble. All these games are available free on your smart phone. Play online with people you do not know and compete with the best. Nothing prevents you from becoming the best in the region or for that matter in the World, using your brain and not brawn power.

Once you take the lead you will find lots of followers who want to play with you but were hesitant to take the lead.

Remove negativity and anxiety from your life

Life is too short and at our stage in life, we are already on the “back nine” of a round of golf! Now is the time to remove all the negativity we have carried inside us about family, friends and the World in general. All this negativity is only hurting ourselves.

If you are feeling anxious about someone or something, speak about it to your family and friends. Bottling this up inside you will only make it more challenging to deal with.

Resolve to celebrate the little joys that you will have and don’t hold back.

Get enough sleep

Most people seem to believe in a myth that as you get older you need lesser sleep. Nothing is farther away from the truth. If you are sleeping late or getting up very early, stay in bed longer than you normally would have and soon you will be sleeping longer and waking up much more rested. Avoid your daytime nap in the early days till your night time sleeping pattern becomes normal. Then you can easily go back to your power siesta as well!

Get regular medical check-ups

Monitor, manage and record your blood pressure, your blood sugar and your weight in a regular systematic manner. If you don’t have any of these challenges, consider yourself blessed. It is necessary for you to get annual medical check-ups done and if you did not get a checkup this year, resolve to undergo a comprehensive check up in the New Year.

Travel and discover new places

Throughout your working life you would have wanted to see new places but did not have the time either because of work commitments or family commitments. Now is the time for you to realise all those dreams. You and your partner can travel to new cities or new countries or even discover new parts of the city you live in.

Discovering new places, new cuisines, new customs and making new friends will be a very energising experience.

Finally, as you celebrate during this festive season with your loved ones, raise a toast to the coming year, but with a smaller glass!

Wish you a very Happy, Healthy and Prosperous New Year.

*******************

The author is an Executive Coach and an Angel Investor. A keen political observer, he is also the founder Chairman of Guardian Pharmacies. He is the author of 6 best-selling books, The Brand Called You; Reboot. Reinvent. Rewire: Managing Retirement in the 21st Century; The Corner Office; An Eye for an Eye; The Buck Stops Here – Learnings of a #Startup Entrepreneur and The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur.

  • Twitter: @gargashutosh
  • Instagram: ashutoshgarg56
  • Blog: ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

सेवानिवृत्त लोगों के लिए नए साल के संकल्प!

2. Reboot. Reinvent. Rewire Managing Retirement in the Twenty First Century

नया साल अगले मुहाने पर खड़ा है और यह उन संकल्पों के बारे में फ़िर से सोचने का समय है! फ़िर चाहे आप अधिक माक़ूल या स्वस्थ बने रहने का संकल्प करें, अधिक सामाजिक होने पर विचार करें या अपनी बकेट लिस्ट के उन कुछ बिंदुओं को चिह्नित करें,जिन्हें जाते साल में करना रहना गया और उन्हें आने वाले वर्ष में करने के बारे में सोचा जा सकता है। नीचे कुछ विचार दिए गए हैं और आप नए साल के संकल्पों की अपनी सूची में उनमें से कुछ या सभी को जोड़ने पर विचार कर सकते हैं।

अपने स्वास्थ्य के लिए लें बेहतर आहार

अपनी सेहत का जिम्मा अपने हाथों में ले लीजिए। अपने भोजन का स्वरूप बदलें। सही खाना खाने की दिशा में छोटे कदम बढ़ाए। आखिरकार, यदि आप अपनी खाद्य आदतों के प्रति लापरवाह हैं, तो उन्हें रातोंरात नहीं बदल सकते हैं।

हमेशा ज्यादातर लोगों को कम वसा एवं अधिक रेशेदार फल, सब्जियाँ और सूखे मेवों के स्वस्थ मिश्रण का सेवन करने की सलाह दी जाती है। बुज़ुर्ग होने के नाते हमारे आहार को नियंत्रित करने के लिए यह और भी महत्वपूर्ण और प्रासंगिक हो जाता है। दिन में कई बार स्वल्पाहार लें। ज्यादातर विशेषज्ञ दिन में 5 बार खाने की सलाह देते हैं लेकिन कम मात्रा में। जैसा कि कुछ विद्वान लोग कहते हैं, “आप अपना पूरा खाना होने से ठीक पहले खाना बंद कर दीजिए!” अन्य कहते हैं कि आपकी कम से कम आधी प्लेट फल और सब्जियों से भरी होनी चाहिए।

अपने सामान्य आहार के माध्यम से आप जो प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं उसे संतुलित करने के लिए अपने आहार में विटामिन और अन्य पूरक जोड़ें।

याद रखें कि बेहतर भोजन ही आपके वजन को कम करने का एकमात्र विकल्प है।

कोई नई, स्वस्थ गतिविधि खोजें

जैसे-जैसे हम बड़े होते चले जाते हैं, चाहे हम पहले सक्रिय रहे हो या नहीं, लेकिन अब सक्रिय रहना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। व्यायाम या योग को अपनी दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाएँ। टेनिस या गोल्फ खेलने का दौर, हर दिन कम से कम 30 मिनट तक तेज चलना (चलने के लिए प्रति सप्ताह 150 मिनट न्यूनतम अनुशंसित है), यौगिक श्वास अभ्यास, तैराकी या साइकिल चलाना आपकी दिनचर्या में शामिल हो तो बहुत अच्छा होगा।

मैंने ऐसे कई वरिष्ठ नागरिकों से मुलाक़ात की है, जिन्होंने अपनी उम्र के लोगों के साथ दौड़ना और दौड़ लगाना शुरू कर दिया है। उन्हें सेहतमंद रहने की इस प्रक्रिया में समान विचारधारा के और उत्साही मित्रों का नया समुदाय भी मिल गया है। अपने व्यक्तित्व और गतिविधि स्तर के आधार पर सही गतिविधि आज़माना और खोजना सर्वोत्तम है।

अपनी बकेट लिस्ट के कुछ बिंदुओं को पूरा करें

खुद को ब्रेक दें। आपने इसे अर्जित किया है। सालों-साल हमारी बकेट लिस्ट में कई बातें जमा होती जा रही हैं। यह लिस्ट लंबे समय तक वैसी की वैसी पड़ी है क्योंकि हम अपने कामकाजी जीवन में समय नहीं निकाल पाए।

आने वाले वर्ष में अपनी बकेट लिस्ट में से कम से कम दो महत्वपूर्ण बातें पूरा करने के लिए हल खोज निकालिए।

दोस्तों और परिवार के साथ और अधिक जुड़ें

अपने काम-काज के चलते व्यस्तता भरे दिनों में जिन पुराने लोगों से मेल-मुलाक़ात बंद हो गई थी, उनसे फ़िर से जुड़िए। पहला कदम उठाने के लिए किसी और की प्रतीक्षा मत कीजिए। एक बार अपने परिवार और दोस्तों से जाकर मिलने तो लगिए, आप हैरान रह जाएँगे कि आपको उनसे कितनी ऊष्मा-उर्जा मिल रही है। यह देखना बहुत दिलचस्प है कि कितने ही लोग फेसबुक और लिंक्डइन का उपयोग कर अपने स्कूल और कॉलेज के पुराने दोस्तों को फिर से खोज रहे हैं।

दोस्तों के साथ कभी-कभार दोपहर का साप्ताहिक भोजन या सुबह की कॉफ़ी या दुनिया भर में फैले हुए आपके परिवार के सदस्यों के साथ व्हाट्सएप या स्काइप कॉल फिर से जुड़ने के शानदार तरीके हैं। उन लोगों के साथ बात करने और हँसने में बिताया गया समय सबसे अच्छे तरीके से बिताया गया समय होगा।

अपना सामान कम करें

अपने कपड़ों की अलमारी और घर साफ करने का तरीका खोजें। इस अभ्यास को शुरू करने से पहले “इच्छा” और “ज़रूरत” के बीच के अंतर के बारे में सोचें। जिन चीजों की आपको आवश्यकता है उन्हें रहने दें और जिनकी आपको चाहना हैं, उन्हें छोड़ दें। यह दार्शनिक लग सकता है लेकिन आजमाएँ, पिछले एक साल से जो भी आपने उपयोग नहीं किया है उसे अलग कर दें। आपके सामने चुनौती यह है कि आपको हमेशा यह लग सकता है कि यदि अचानक उस वस्तु की आवश्यकता आन पड़ी तो-“क्या होगा”। यदि आपने एक बार उसे दूर कर देने का निर्णय ले लिया है, तो उसे अगले आने वाले वर्ष तक सक्रिय संकल्प के रूप में रखें और फिर मूल्यांकन करें कि क्या आपको उस वस्तु (ओं) की आवश्यकता महसूस हुई या नहीं,जिसे आपने दूर कर दिया था। जबकि संभावना तो यह है कि आपको उन वस्तुओं की कभी याद भी नहीं आएगी।

इसके अलावा इससे बेतरतीब पड़े सामान को व्यवस्थित करने और समय-समय पर आपके घर को साफ़ करने की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी।

नई तकनीक आजमा कर देखें

प्रौद्योगिकी से जैसा कि आप अच्छी तरह जानते हैं हमारी दुनिया बदल रही है। यदि आप फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और अन्य सारे माध्यमों से संचार और कनेक्शन के कई रूपों को पहले नहीं समझ पाए हैं तो अब ऐसा करने का समय है। अपने फोन और अन्य उपकरणों के ऑपरेटिंग सिस्टम से परिचित हो जाइए। आइए इन मंचों को जानने और समझने की कोशिश करें क्योंकि हमारा जीवन अधिक से अधिक ऐसे मंचों पर विकसित होने वाले अनुप्रयोगों और इस तरह के संचार माध्यमों के आसपास घूमने वाला है।

अपने ज्ञान और कौशल को धारदार बनाने के लिए आपके हर संभावित प्रश्न के उत्तरों के ऑन-लाइन ट्यूटोरियल हैं। आप अपने घर के या पड़ोस के किसी युवा से अनुरोध भी कर सकते हैं कि वह

आपको सिखा दें।

अपनी कहानी साझा कीजिए

आपने अद्भुत और भरापूरा जीवन जीया है और अब आपकी कहानी सबको बताने का समय आ गया है। अपना ब्लॉग लिखें और इसे दैनिक या साप्ताहिक आधार पर प्रकाशित करें। अपने जीवन के सभी उपाख्यानों के बारे में सोचें और उनके बारे में लिखें। अपने करियर के मील के पत्थर और बच्चे के रूप में बिताए गए समय के बारे में सोचें और उन्हें दर्ज करें। अपने माता-पिता और विस्तारित परिवार के बारे में सोचें और उन यादों को ध्यान से लिखित रूप में संग्रहित करें।

यदि आप ब्लॉग लिखने में सहज नहीं हैं, तो इसे अपने मोबाइल फोन पर बोलकर लिखवा लें। अधिकांश फोन में अब “वॉयस टू टेक्स्ट” की सुविधा है जो आपकी वॉयस रिकॉर्डिंग को तेज़ी से लिखित में बदलना जानती है। यदि यह भी काम नहीं करता है, तो रिकॉर्डिंग को किसी को भेजें जो इसे बहुत ही कम शुल्क लेकर ट्रांसक्रिप्ट कर देगा। वह तय ब्लॉग भावी पीढ़ी के लिए भी आपकी आवाज़ सुरक्षित रखेगा।

यह न केवल आपकी यादों और विचारों को दर्ज करेगा, बल्कि यह भावी पीढ़ियों के लिए आपके परिवार के इतिहास का दस्तावेज भी बन सकता है।

मस्तिष्क को भी व्यायाम दें

जितना अधिक आप अपने मस्तिष्क का प्रयोग करेंगे, उतना ही यह आपके शरीर की तरह मजबूत बनेगा। ध्यान दें कि इन दिनों मस्तिष्क की बीमारियाँ जैसे डिमेंशिया और अल्ज़ाइमर के मरीज़ बढ़ रहे हैं।

अपने दैनिक समाचार पत्र के अलावा भी दूसरा बहुत कुछ पढ़ें। जिन विषयों में आपकी रुचि है उनसे संबंधित चर्चा समूहों में शामिल हों या ऐसे विषयों के समूह प्रारंभ करें। सुडोकू, शतरंज, प्रश्नोत्तरी या स्क्रैबल आज़माएँ। ये सभी खेल आपके स्मार्ट फोन पर निःशुल्क उपलब्ध हैं। जिन्हें आप नहीं जानते, उन लोगों के साथ ऑनलाइन खेलें और सर्वोत्तम को टक्कर दें। अपनी दिमाग शक्ति का उपयोग करें न कि मांसपेशियों के बल का, फिर तो आपको इस क्षेत्र में या कि यूँ कह लें दुनिया में कुछ भी सबसे अच्छा करने से आपको कोई नहीं रोक सकता है।

एक बार जब आप नेतृत्व कर लेंगे तो आपको बहुत से अनुयायी मिल जाएंगे जो आपके साथ खेलना चाहते हैं लेकिन आगे आने में संकोच कर रहे थे।

अपने जीवन से नकारात्मकता और चिंता दूर करें

जीवन बहुत छोटा है और जीवन के जिस मुकाम पर हम हैं, वहाँ हम पहले से ही गोल्फ के “अंतिम नौ” (बैक नाइन सीधे गोल्फ के दौर के अंत को देखने से संबंधित है) के दौर पर हैं! अब हमारे सामने वह समय है जब हमें अपने भीतर परिवार के लोगों, दोस्तों और दुनिया को लेकर जितनी भी नकारात्मकता है वह सारी ख़त्म कर देना चाहिए। इस सारी नकारात्मकता से हम केवल खुद को चोट पहुँचाते हैं।

यदि आप किसी बारे में चिंतित महसूस कर रहे हैं, तो अपने परिवार और दोस्तों से उस बारे में बात करें। इसे अंदर ही अंदर बोतलबंद कर देने पर आपके लिए ही इससे निपटना और अधिक चुनौतीपूर्ण हो जाएगा।

छोटी से छोटी जो भी खुशी आपके पास आए, उसे मनाना ठान लें और ऐसा करने से ख़ुद को न रोकें।

पर्याप्त नींद लें

ज्यादातर लोग उस कपोल कल्पना पर विश्वास रखते हैं कि जब आप बूढ़े हो जाते हैं तो आपको कम नींद की आवश्यकता होती है। सच्चाई से इसका दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। यदि आप देर तक सो रहे हैं या बहुत जल्दी उठ रहे हैं, तो आमतौर पर जितना समय आप बिस्तर पर रहते हैं उससे अधिक समय तक बिस्तर पर रहें और देखेंगे कि जल्द ही आप लंबे समय तक सो रहे होंगे और अधिक आराम कर रहे होंगे। शुरुआती दिनों में तब तक दिन में नींद लेने से बचें जब तक कि आपकी रात को समय पर सोने की आदत सामान्य न हो जाए। फिर आप आसानी से अपनी दोपहर की झपकी भी ले सकते हैं!

नियमित चिकित्सकीय जाँचपड़ताल करवाते रहें

नियमित रूप से और व्यवस्थित तरीके से अपना रक्तचाप, रक्त में शकर की मात्रा और अपना वजन नियंत्रित, प्रबंधित और दर्ज करें। यदि आपके सामने ऐसी कोई भी चुनौती नहीं है, तो इसे आशीर्वाद मानें। आपके लिए ज़रूरी है कि आप सालाना चिकित्सकीय जाँच-पड़ताल करवाते रहे और यदि आपने इस साल जाँच नहीं की है, तो नए साल में व्यापक जाँच करवाने का संकल्प लें।

यात्रा करें और नए स्थानों की खोज करें

अपने पूरे कामकाजी जीवन में आप नए स्थानों को देखना चाहते थे लेकिन अपने कार्य से जुड़ी प्रतिबद्धताओं या पारिवारिक प्रतिबद्धताओं के कारण समय नहीं निकाल पा रहे थे। अब उन सभी सपनों को साकार करने का समय आ गया है। आप और आपके जीवनसाथी नए शहरों या नए देशों की यात्रा कर सकते हैं या यहाँ तक कि आप जिस शहर में रहते हैं उसके ही नए हिस्सों को भी खोज सकते हैं।

नए स्थानों की खोज, नए व्यंजन, नए रिवाज और नए दोस्त बनाना बहुत ही उत्साही अनुभव होगा।

और अंत में, चूँकि आप अपने प्रियजनों के साथ इस त्यौहार के मौसम का जश्न मना रहे हैं, तो आने वाले साल के नाम एक जाम ले लें, पर छोटे पेग के साथ!

हम आपके लिए बहुत ही ख़ुशनुमा, सेहतमंद और समृद्ध नए साल की कामना करते हैं।

*******************

लेखक कार्यकारी कोच और एंजेल निवेशक हैं। राजनीतिक समीक्षक के साथ वे गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। वे 6 बेस्ट सेलर पुस्तकों ब्रांड कॉल्ड यूThe Brand Called You रीबूट– Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; बक स्टॉप्स हीयर– The Buck Stops Here लर्निंग ऑफ़ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and बक स्टॉप्स हीयरमाय जर्नी फ़्राम मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं।

  •  ट्विटर : @gargashutosh
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

 

नया साल अगले मुहाने पर खड़ा है और यह उन संकल्पों के बारे में फ़िर से सोचने का समय है! फ़िर चाहे आप अधिक माक़ूल या स्वस्थ बने रहने का संकल्प करें, अधिक सामाजिक होने पर विचार करें या अपनी बकेट लिस्ट के उन कुछ बिंदुओं को चिह्नित करें,जिन्हें जाते साल में करना रहना गया और उन्हें आने वाले वर्ष में करने के बारे में सोचा जा सकता है। नीचे कुछ विचार दिए गए हैं और आप नए साल के संकल्पों की अपनी सूची में उनमें से कुछ या सभी को जोड़ने पर विचार कर सकते हैं।

अपने स्वास्थ्य के लिए लें बेहतर आहार

अपनी सेहत का जिम्मा अपने हाथों में ले लीजिए। अपने भोजन का स्वरूप बदलें। सही खाना खाने की दिशा में छोटे कदम बढ़ाए। आखिरकार, यदि आप अपनी खाद्य आदतों के प्रति लापरवाह हैं, तो उन्हें रातोंरात नहीं बदल सकते हैं।

हमेशा ज्यादातर लोगों को कम वसा एवं अधिक रेशेदार फल, सब्जियाँ और सूखे मेवों के स्वस्थ मिश्रण का सेवन करने की सलाह दी जाती है। बुज़ुर्ग होने के नाते हमारे आहार को नियंत्रित करने के लिए यह और भी महत्वपूर्ण और प्रासंगिक हो जाता है। दिन में कई बार स्वल्पाहार लें। ज्यादातर विशेषज्ञ दिन में 5 बार खाने की सलाह देते हैं लेकिन कम मात्रा में। जैसा कि कुछ विद्वान लोग कहते हैं, “आप अपना पूरा खाना होने से ठीक पहले खाना बंद कर दीजिए !” अन्य कहते हैं कि आपकी कम से कम आधी प्लेट फल और सब्जियों से भरी होनी चाहिए।

अपने सामान्य आहार के माध्यम से आप जो प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं उसे संतुलित करने के लिए अपने आहार में विटामिन और अन्य पूरक जोड़ें।

याद रखें कि बेहतर भोजन ही आपके वजन को कम करने का एकमात्र विकल्प है।

कोई नई, स्वस्थ गतिविधि खोजें

जैसे-जैसे हम बड़े होते चले जाते हैं, चाहे हम पहले सक्रिय रहे हो या नहीं, लेकिन अब सक्रिय रहना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। व्यायाम या योग को अपनी दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाएँ। टेनिस या गोल्फ खेलने का दौर, हर दिन कम से कम 30 मिनट तक तेज चलना (चलने के लिए प्रति सप्ताह 150 मिनट न्यूनतम अनुशंसित है), यौगिक श्वास अभ्यास, तैराकी या साइकिल चलाना आपकी दिनचर्या में शामिल हो तो बहुत अच्छा होगा।

मैंने ऐसे कई वरिष्ठ नागरिकों से मुलाक़ात की है, जिन्होंने अपनी उम्र के लोगों के साथ दौड़ना और दौड़ लगाना शुरू कर दिया है। उन्हें सेहतमंद रहने की इस प्रक्रिया में समान विचारधारा के और उत्साही मित्रों का नया समुदाय भी मिल गया है। अपने व्यक्तित्व और गतिविधि स्तर के आधार पर सही गतिविधि आज़माना और खोजना सर्वोत्तम है।

अपनी बकेट लिस्ट के कुछ बिंदुओं को पूरा करें

खुद को ब्रेक दें। आपने इसे अर्जित किया है। सालों-साल हमारी बकेट लिस्ट में कई बातें जमा होती जा रही हैं। यह लिस्ट लंबे समय तक वैसी की वैसी पड़ी है क्योंकि हम अपने कामकाजी जीवन में समय नहीं निकाल पाए।

आने वाले वर्ष में अपनी बकेट लिस्ट में से कम से कम दो महत्वपूर्ण बातें पूरा करने के लिए हल खोज निकालिए।

दोस्तों और परिवार के साथ और अधिक जुड़ें

अपने काम-काज के चलते व्यस्तता भरे दिनों में जिन पुराने लोगों से मेल-मुलाक़ात बंद हो गई थी, उनसे फ़िर से जुड़िए। पहला कदम उठाने के लिए किसी और की प्रतीक्षा मत कीजिए। एक बार अपने परिवार और दोस्तों से जाकर मिलने तो लगिए, आप हैरान रह जाएँगे कि आपको उनसे कितनी ऊष्मा-उर्जा मिल रही है। यह देखना बहुत दिलचस्प है कि कितने ही लोग फेसबुक और लिंक्डइन का उपयोग कर अपने स्कूल और कॉलेज के पुराने दोस्तों को फिर से खोज रहे हैं।

दोस्तों के साथ कभी-कभार दोपहर का साप्ताहिक भोजन या सुबह की कॉफ़ी या दुनिया भर में फैले हुए आपके परिवार के सदस्यों के साथ व्हाट्सएप या स्काइप कॉल फिर से जुड़ने के शानदार तरीके हैं। उन लोगों के साथ बात करने और हँसने में बिताया गया समय सबसे अच्छे तरीके से बिताया गया समय होगा।

अपना सामान कम करें

अपने कपड़ों की अलमारी और घर साफ करने का तरीका खोजें। इस अभ्यास को शुरू करने से पहले “इच्छा” और “ज़रूरत” के बीच के अंतर के बारे में सोचें। जिन चीजों की आपको आवश्यकता है उन्हें रहने दें और जिनकी आपको चाहना हैं, उन्हें छोड़ दें। यह दार्शनिक लग सकता है लेकिन आजमाएँ, पिछले एक साल से जो भी आपने उपयोग नहीं किया है उसे अलग कर दें। आपके सामने चुनौती यह है कि आपको हमेशा यह लग सकता है कि यदि अचानक उस वस्तु की आवश्यकता आन पड़ी तो-“क्या होगा”। यदि आपने एक बार उसे दूर कर देने का निर्णय ले लिया है, तो उसे अगले आने वाले वर्ष तक सक्रिय संकल्प के रूप में रखें और फिर मूल्यांकन करें कि क्या आपको उस वस्तु (ओं) की आवश्यकता महसूस हुई या नहीं,जिसे आपने दूर कर दिया था। जबकि संभावना तो यह है कि आपको उन वस्तुओं की कभी याद भी नहीं आएगी।

इसके अलावा इससे बेतरतीब पड़े सामान को व्यवस्थित करने और समय-समय पर आपके घर को साफ़ करने की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी।

नई तकनीक आजमा कर देखें

प्रौद्योगिकी से जैसा कि आप अच्छी तरह जानते हैं हमारी दुनिया बदल रही है। यदि आप फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और अन्य सारे माध्यमों से संचार और कनेक्शन के कई रूपों को पहले नहीं समझ पाए हैं तो अब ऐसा करने का समय है। अपने फोन और अन्य उपकरणों के ऑपरेटिंग सिस्टम से परिचित हो जाइए। आइए इन मंचों को जानने और समझने की कोशिश करें क्योंकि हमारा जीवन अधिक से अधिक ऐसे मंचों पर विकसित होने वाले अनुप्रयोगों और इस तरह के संचार माध्यमों के आसपास घूमने वाला है।

अपने ज्ञान और कौशल को धारदार बनाने के लिए आपके हर संभावित प्रश्न के उत्तरों के ऑन-लाइन ट्यूटोरियल हैं। आप अपने घर के या पड़ोस के किसी युवा से अनुरोध भी कर सकते हैं कि वह

आपको सिखा दें।

अपनी कहानी साझा कीजिए

आपने अद्भुत और भरापूरा जीवन जीया है और अब आपकी कहानी सबको बताने का समय आ गया है। अपना ब्लॉग लिखें और इसे दैनिक या साप्ताहिक आधार पर प्रकाशित करें। अपने जीवन के सभी उपाख्यानों के बारे में सोचें और उनके बारे में लिखें। अपने करियर के मील के पत्थर और बच्चे के रूप में बिताए गए समय के बारे में सोचें और उन्हें दर्ज करें। अपने माता-पिता और विस्तारित परिवार के बारे में सोचें और उन यादों को ध्यान से लिखित रूप में संग्रहित करें।

यदि आप ब्लॉग लिखने में सहज नहीं हैं, तो इसे अपने मोबाइल फोन पर बोलकर लिखवा लें। अधिकांश फोन में अब “वॉयस टू टेक्स्ट” की सुविधा है जो आपकी वॉयस रिकॉर्डिंग को तेज़ी से लिखित में बदलना जानती है। यदि यह भी काम नहीं करता है, तो रिकॉर्डिंग को किसी को भेजें जो इसे बहुत ही कम शुल्क लेकर ट्रांसक्रिप्ट कर देगा। वह तय ब्लॉग भावी पीढ़ी के लिए भी आपकी आवाज़ सुरक्षित रखेगा।

यह न केवल आपकी यादों और विचारों को दर्ज करेगा, बल्कि यह भावी पीढ़ियों के लिए आपके परिवार के इतिहास का दस्तावेज भी बन सकता है।

मस्तिष्क को भी व्यायाम दें

जितना अधिक आप अपने मस्तिष्क का प्रयोग करेंगे, उतना ही यह आपके शरीर की तरह मजबूत बनेगा। ध्यान दें कि इन दिनों मस्तिष्क की बीमारियाँ जैसे डिमेंशिया और अल्ज़ाइमर के मरीज़ बढ़ रहे हैं।

अपने दैनिक समाचार पत्र के अलावा भी दूसरा बहुत कुछ पढ़ें। जिन विषयों में आपकी रुचि है उनसे संबंधित चर्चा समूहों में शामिल हों या ऐसे विषयों के समूह प्रारंभ करें। सुडोकू, शतरंज, प्रश्नोत्तरी या स्क्रैबल आज़माएँ। ये सभी खेल आपके स्मार्ट फोन पर निःशुल्क उपलब्ध हैं। जिन्हें आप नहीं जानते, उन लोगों के साथ ऑनलाइन खेलें और सर्वोत्तम को टक्कर दें। अपनी दिमाग शक्ति का उपयोग करें न कि मांसपेशियों के बल का, फिर तो आपको इस क्षेत्र में या कि यूँ कह लें दुनिया में कुछ भी सबसे अच्छा करने से आपको कोई नहीं रोक सकता है।

एक बार जब आप नेतृत्व कर लेंगे तो आपको बहुत से अनुयायी मिल जाएंगे जो आपके साथ खेलना चाहते हैं लेकिन आगे आने में संकोच कर रहे थे।

अपने जीवन से नकारात्मकता और चिंता दूर करें

जीवन बहुत छोटा है और जीवन के जिस मुकाम पर हम हैं, वहाँ हम पहले से ही गोल्फ के “अंतिम नौ” (बैक नाइन सीधे गोल्फ के दौर के अंत को देखने से संबंधित है) के दौर पर हैं! अब हमारे सामने वह समय है जब हमें अपने भीतर परिवार के लोगों, दोस्तों और दुनिया को लेकर जितनी भी नकारात्मकता है वह सारी ख़त्म कर देना चाहिए। इस सारी नकारात्मकता से हम केवल खुद को चोट पहुँचाते हैं।

यदि आप किसी बारे में चिंतित महसूस कर रहे हैं, तो अपने परिवार और दोस्तों से उस बारे में बात करें। इसे अंदर ही अंदर बोतलबंद कर देने पर आपके लिए ही इससे निपटना और अधिक चुनौतीपूर्ण हो जाएगा।

छोटी से छोटी जो भी खुशी आपके पास आए, उसे मनाना ठान लें और ऐसा करने से ख़ुद को न रोकें।

पर्याप्त नींद लें

ज्यादातर लोग उस कपोल कल्पना पर विश्वास रखते हैं कि जब आप बूढ़े हो जाते हैं तो आपको कम नींद की आवश्यकता होती है। सच्चाई से इसका दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। यदि आप देर तक सो रहे हैं या बहुत जल्दी उठ रहे हैं, तो आमतौर पर जितना समय आप बिस्तर पर रहते हैं उससे अधिक समय तक बिस्तर पर रहें और देखेंगे कि जल्द ही आप लंबे समय तक सो रहे होंगे और अधिक आराम कर रहे होंगे। शुरुआती दिनों में तब तक दिन में नींद लेने से बचें जब तक कि आपकी रात को समय पर सोने की आदत सामान्य न हो जाए। फिर आप आसानी से अपनी दोपहर की झपकी भी ले सकते हैं!

नियमित चिकित्सकीय जाँचपड़ताल करवाते रहें

नियमित रूप से और व्यवस्थित तरीके से अपना रक्तचाप, रक्त में शकर की मात्रा और अपना वजन नियंत्रित, प्रबंधित और दर्ज करें। यदि आपके सामने ऐसी कोई भी चुनौती नहीं है, तो इसे आशीर्वाद मानें। आपके लिए ज़रूरी है कि आप सालाना चिकित्सकीय जाँच-पड़ताल करवाते रहे और यदि आपने इस साल जाँच नहीं की है, तो नए साल में व्यापक जाँच करवाने का संकल्प लें।

यात्रा करें और नए स्थानों की खोज करें

अपने पूरे कामकाजी जीवन में आप नए स्थानों को देखना चाहते थे लेकिन अपने कार्य से जुड़ी प्रतिबद्धताओं या पारिवारिक प्रतिबद्धताओं के कारण समय नहीं निकाल पा रहे थे। अब उन सभी सपनों को साकार करने का समय आ गया है। आप और आपके जीवनसाथी नए शहरों या नए देशों की यात्रा कर सकते हैं या यहाँ तक कि आप जिस शहर में रहते हैं उसके ही नए हिस्सों को भी खोज सकते हैं।

नए स्थानों की खोज, नए व्यंजन, नए रिवाज और नए दोस्त बनाना बहुत ही उत्साही अनुभव होगा।

और अंत में, चूँकि आप अपने प्रियजनों के साथ इस त्यौहार के मौसम का जश्न मना रहे हैं, तो आने वाले साल के नाम एक जाम ले लें, पर छोटे पेग के साथ!

हम आपके लिए बहुत ही ख़ुशनुमा, सेहतमंद और समृद्ध नए साल की कामना करते हैं।

*******************

लेखक कार्यकारी कोच और एंजेल निवेशक हैं। राजनीतिक समीक्षक के साथ वे गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। वे 6 बेस्ट सेलर पुस्तकों ब्रांड कॉल्ड यूThe Brand Called You रीबूट– Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; बक स्टॉप्स हीयर– The Buck Stops Here लर्निंग ऑफ़ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and बक स्टॉप्स हीयरमाय जर्नी फ़्राम मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं।

  • ट्विटर : @gargashutosh
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

Manage Your Weight especially post Retirement

181109 Weight Loss in Retirement (2)

The Dalai Lama, when asked what surprised him most about humanity, answered

“Man. Because he sacrifices his health in order to make money. Then he sacrifices money to recuperate his health. And then is so anxious about the future that he does not enjoy the present; the result being that he does not live in the present or the future; he lives as if he is never going to die, and then dies having never really lived”

Losing weight is certainly the most aspired objective of most people in the World. As one gets older, this aspiration needs to be converted into a reality to maintain one’s health.

A lot of retirees tend to let their bodies go and start to put on weight soon after retirement. They don’t have a regular schedule and they eat at all hours resulting in weight gain.

Excessive weight is the cause for a lot of diseases.

Besides, your body was never made to handle more than a “normal” weight. Your ideal weight can be checked quite easily on the internet or by asking your doctor.

Some people are blessed with a naturally high metabolism and an aversion to sweets. The rest of us aren’t so lucky. For those of you who may have hovered around the upper end of the height-weight standards, or who put on some post-retirement kilos, let me share with you what I’ve learned over the years.

Stop looking for the magic pill or diet. Stop believing those magical advertisements on television shopping channels that promise weight loss by simply lying in your bed. If there was an amazing pill or dietary supplement that lets you eat what you want while still losing weight, the big pharmaceutical companies would be selling it like hot cakes.

Here are some tried and tested ways on how can you manage your weight?

Be realistic about your weight loss goal – While many of us would love to reach the weight we were when we got married, often that’s not realistic. Yet I have met a friend who was grossly overweight and he decided that he would fit into his wedding shervani after 28 years of marriage. I was amazed at his determination and one year later he had lost his weight and met his goal.

Setting an unrealistic goal sets you up for frustration and failure. I have tried every possible diet and though I lost weight quickly, I put it back on even more quickly. The only sure way to lose weight is by cutting down on your food intake.

If your target is to lose 5 kilos, your target should be to lose one kilo every month. Drop your first kilo in the first two weeks and then maintain it for the next two weeks. With all the digital scales available, you can get your weight to the nearest 100 grams.

Concentrate on the calories in your diet – Losing weight is not quick or easy, but the principle is simple. It all boils down to a balance between “calories in” from what you eat versus “calories out” that you burn through exercise.

There are hundreds of wearable devices available at all price ranges that you can buy to keep track of your exercise schedule and the calories you have burned.

A reduction of 500 calories per day will lead to the loss of one kilo in two weeks. While exercise is important to your overall health and to maintaining a healthy weight, cutting calories is the key to weight loss. It is much easier to cut 500 calories a day out of your diet (give up a bag of chips and a soft drink, or a couple glasses of sweet tea) than it is to jog for 45 minutes or swim for an hour every day.

Exercise will help you to tone up your ageing muscles but only food control will help you to lose weight.

Keep a food diary – Document what, where and how much you eat. Medical studies have shown that people who keep a food diary are much more likely to lose weight. What you find from your food diary may open your eyes. Do you skip breakfast, eat yogurt for lunch then empty the entire refrigerator when you come home from work?

Do you eat a healthy breakfast and dinner, but really add on the calories by going out to lunch with your colleagues? Do you mindlessly snack in front of the TV? Do you have a few beers or glasses of alcohol every night?

Keeping a food diary forces you to be honest, but it also helps you pin-point your problem areas to help identify where you can drop 500 calories a day.

New norms recommend that you consume the following on a regular basis

  • Eat three servings of fruits
  • Eat four servings of vegetables every day
  • Eat nine servings of whole grains each day
  • Drink at least eight glasses of water daily
  • Avoid drinking both sugar and diet sodas

Make your weight loss plan – Based on your food diary, figure out where you can eliminate 500 calories a day.

Don’t make a vague commitment to eat less. Instead commit to a specific action such as giving up sweet tea, stopping that nightly glass of alcohol or taking a sandwich for lunch to work. If portion control is an issue, consider using a meal replacement product for one meal a day. Meal bars or meal replacement shakes for one meal a day can help you lose weight without compromising your dietary intake of vitamins, minerals and fiber.

Don’t give up if you slip-up – If you splurge and have a big slice of birthday cake at work, don’t throw in the towel. Keep the calories light for the remainder of the day and get back on track the next day. Your goal should be to adopt healthy diet changes that give you slow but consistent weight loss of a kilo or so every month.

Keep at it and you will definitely see a perceptible improvement in your health. And the bonus will be that you might just fit into your wedding suit again!

*******************

The author is an Executive Coach and an Angel Investor. A keen political observer, he is also the founder Chairman of Guardian Pharmacies. He is the author of 5 best-selling books, Reboot. Reinvent. Rewire: Managing Retirement in the 21st Century; The Corner Office; An Eye for an Eye; The Buck Stops Here – Learnings of a #Startup Entrepreneur and The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur. 

  • Twitter: @gargashutosh
  • Instagram: ashutoshgarg56
  • Blog: ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

अपना वजन संभालें, ख़ास तौर पर सेवानिवृत्ति के बाद

 

181109 Weight Loss in Retirement (2)

जब दलाई लामा से किसी ने पूछा कि आपको मानव जाति के बारे में सबसे ज़्यादा क्या विस्मित करता है?, उन्होंने जवाब दिया

“मनुष्य। क्योंकि वह पैसा कमाने के लिए अपने स्वास्थ्य का त्याग करता है। फिर स्वास्थ्य पाने के लिए धन खर्च करता है। और फिर भविष्य के बारे में इतना चिंतित रहता है कि वह वर्तमान का आनंद ही नहीं ले पाता है; नतीजन वह वर्तमान या भविष्य में नहीं रहता; वह ऐसे रहने लगता है जैसे कि वह कभी मरने ही नहीं वाला है, और फिर वह मर जाता है, वास्तव में कभी भी न जीते हुए”

निश्चित रूप से दुनिया के अधिकांश लोगों की सबसे बड़ी आकांक्षा वजन कम करना है। हर किसी को उम्र बढ़ने के साथ इस आकांक्षा को वास्तविकता में बदलने की ज़रूरत है ताकि व्यक्ति का स्वास्थ्य बना रह सके।

कई सेवानिवृत्त लोग अपने शरीर पर ध्यान नहीं देते और सेवानिवृत्ति के तुरंत बाद उनका वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। उनका कोई तयशुदा कार्यक्रम नहीं होता और वे हर समय खाते रहते हैं जिससे परिणामस्वरूप उनका वज़न बढ़ने लगता है।

अत्यधिक वजन कई बीमारियों का कारण बन जाता है।

इतना ही नहीं, आपके शरीर को “सामान्य” वजन से अधिक संभालने के लिए नहीं बनाया गया था। आपका आदर्श वजन इंटरनेट पर या आपके डॉक्टर से पूछकर आसानी से देखा जा सकता है।

कुछ लोगों को स्वाभाविक रूप से उच्च चयापचय और मिठाइयों के प्रति विमुखता का आशीर्वाद मिला होता है। शेष बचे हम लोग उतने भाग्यशाली नहीं हैं। आप में से उन लोगों के लिए जो ऊँचाई-वजन मानकों के ऊपरी छोर के आसपास हो सकते हैं, या वे जिन्होंने सेवानिवृत्ति के बाद अपना वजन कुछ किलोग्राम बढ़ा लिया है, उनसे मैं इन कुछ वर्षों में जो मैंने सीखा है, उसे साझा करना चाहता हूँ।

किसी जादूई गोली या आहार की तलाश करना बंद कर दें। टेलीविज़न शॉपिंग चैनलों के उन झूठे विज्ञापनों पर विश्वास करना बंद कर दें, जो आपसे वादा करते हैं कि बिस्तर पर बस लेटे-लेटे आप वजन घटा सकते हैं। यदि ऐसी कोई अद्भुत गोली या आहार पूरक होता, जो आपको वज़न कम करने के दौरान जो भी चाहिए, उसे खाने देता, तो बड़ी दवा कंपनियाँ इसे हॉट (गर्म) केक की तरह बेच रही होतीं।

यहाँ कुछ आज़माए और परखे गए तरीके दिए जा रहे हैं जिनके आधार पर आप जान सकते हैं कि अपना वजन कैसे प्रबंधित कर सकते हैं?

अपने वजन घटाने के लक्ष्य के बारे में यथार्थवादी रहें-  जबकि हम में से कई लोग चाहते हैं कि उनका वजन उतना हो जाएँ, जितना शादी के समय था, अक्सर यह विचार यथार्थवादी नहीं होता। मगर मेरी मुलाकात उस दोस्त से हुई, जिसका वज़न बहुत अधिक था और उसने फैसला किया कि शादी के 28 साल बाद वह अपनी शादी की शेरवानी को फिर पहनेगा। मैं उसके दृढ़ निश्चय पर चकित था और एक साल बाद उसने अपना वज़न कम कर लिया और अपना लक्ष्य हासिल कर लिया।

अपने सामने अवास्तविक लक्ष्य निर्धारित करना आपको निराशा और विफलता दिला सकता है। जब मैंने हर संभव तरीके से आहार पालन कोशिश की है और हालाँकि मैंने वजन कम कर लिया, पर मैंने उसे और भी जल्दी वापस हासिल कर लिया। वजन कम करने का एकमात्र निश्चित तरीका है कि आप भोजन का सेवन कम करें।

यदि आपका लक्ष्य 5 किलोग्राम कम करना है, तो आपका लक्ष्य हर महीने एक किलो कम करना होना चाहिए। पहले दो हफ्तों में पहले एक किलो को कम करें और फिर इसे अगले दो सप्ताह तक बनाए रखें। उपलब्ध सभी डिजिटल स्केल के ज़रिए, आप अपना वजन 100 ग्राम के निकटतम तक प्राप्त कर सकते हैं।

अपने आहार में कैलोरी पर ध्यान देंवजन कम करना त्वरित या आसान नहीं है, लेकिन सिद्धांत सरल है। सिद्धांत केवल इतना है कि आप जितनी कैलोरी ले रहे हैं, उस “कैलोरी इन” और जितनी कैलोरी व्यायाम के माध्यम से गला सकते हैं उतनी “कैलोरी आउट” के बीच सधा हुआ संतुलन स्थापित कर सकें।

बाज़ार में तमाम मूल्य सीमाओं में ऐसे सैकड़ों उपकरण उपलब्ध हैं, जिन्हें खरीद सकते हैं, इन्हें पहननकर आप अपने व्यायाम कार्यक्रम द्वारा गलाई कैलोरी का ट्रैक रख सकते हैं।

प्रति दिन 500 कैलोरी की कमी दो सप्ताह में एक किलो तक वज़न कम करने की ओर ले जाएगी। जबकि व्यायाम आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है, वही स्वस्थ वजन बनाए रखने के लिए, कैलोरी कम करना, वजन घटाने की कुंजी होती है। 45 मिनट की सैर करना या हर दिन एक घंटे तैरने की तुलना में अपने आहार में एक दिन 500 कैलोरी कम करना (चिप्स और शीतल पेय, या मीठे चाय की कुछ प्यालियाँ छोड़ना) बहुत आसान है।

व्यायाम आपको बुढ़ापे की मांसपेशियों को ठीक करने में मदद करेगा, लेकिन केवल खाद्य नियंत्रण ही आपको वजन कम करने में मददगार होगा।

खाद्य डायरी बनाएँदस्तावेज बनाएँ कि आप क्या, कहाँ और कितना खाते हैं। चिकित्सा अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग कितना भोजन किया, उसे डायरी में लिखते हैं, उनका वजन कम होने की संभावना अधिक होती है। आपको अपनी खाद्य डायरी में जो देखने को मिलता है, वह आपकी आँखें खोल सकता हैं। क्या आप नाश्ता नहीं करते हैं, दोपहर के भोजन में दही खाते हैं, फिर जब आप काम पर से घर लौटते हैं तो पूरे रेफ्रिजरेटर को खाली कर देते हैं?

क्या आप स्वस्थ नाश्ता और रात का भोजन करते हैं, लेकिन वास्तव में अपने सहयोगियों के साथ दोपहर का भोजन बाहर लेकर कैलोरी जोड़ लेते हैं? क्या आप बिना सोचे-समझे टीवी के सामने बैठ कुछ भी खाते चले जाते हैं? क्या आप हर रात थोड़ी बीयर या शराब के कुछ जाम चढ़ा लेते हैं?

खाद्य डायरी बनाने से आप ईमानदार होने को मजबूर हो जाते हैं, लेकिन यह आपको अपने समस्या क्षेत्रों को दुरुस्त करने में भी मदद करता है ताकि यह पता चल सके कि आप दिन में 500 कैलोरी कहाँ घटा सकते हैं।

नए मानदंड अनुशंसा करते हैं कि आप नियमित आधार पर निम्नलिखित का सेवन करें

  • दिन में तीन बार फल खाएँ
  • हर दिन चार बार सब्जी लें
  • हर दिन नौ बार साबूत अनाज खाएँ
  • रोजाना कम से कम आठ गिलास पानी पीएँ
  • चीनी (शकर) और डायट सोडा दोनों से परहेज़ करें

अपना वजन घटाने की योजना बनाएँअपनी खाद्य डायरी के आधार पर, पता लगाएँ कि आप एक दिन में 500 कैलोरी को कहाँ से हटा सकते हैं।

कम आहार के बारे में अस्पष्ट प्रतिबद्धता न रखें। इसकी बजाय मीठी चाय छोड़ने, रात की वह शराब छोड़ने या काम पर जाते हुए दोपहर के भोजन के लिए सैंडविच न ले जाने जैसी कोई विशिष्ट क्रिया करने के लिए प्रतिबद्ध रहे। यदि इस तरह किसी एक पर नियंत्रण करना बड़ा मसला है, तो दिन में एक बार खाने के एक पदार्थ के बदले भोजन के प्रतिस्थापन उत्पाद का उपयोग करने पर विचार करें। भोजन पर रोक लगाना या एक बार के खाने में भोजन प्रतिस्थापन पेय आपकी विटामिन, खनिजों और फाइबर के आहार से समझौता किए बिना वजन कम करने में मदद कर सकता है।

अगर आप भूल जाएँ, तब भी हार मत मानो – यदि आपके कार्यस्थल पर किसी के जन्मदिन के केक का बड़ा टुकड़ा बँटता हैं तो उसे तौलिया में लपेटकर फेंके नहीं। दिन के शेष आहार के लिए इस कैलोरी पर रोशनी डालें और अगले दिन ट्रैक पर वापस आ जाएँ। आपका लक्ष्य स्वस्थ आहार परिवर्तनों को अपनाना होना चाहिए, जो आपको हर महीने एक किलो या इतनी ही धीमी गति से लेकिन लगातार वजन घटाने में मदद करता है।

इसे अपने तक रखें और आप निश्चित रूप से अपने स्वास्थ्य में स्पष्ट सुधार होता देखेंगे। और बोनस यह होगा कि आप फिर अपने शादी का सूट पहन सकते हैं!

*******************

लेखक कार्यकारी कोच और एंजेल निवेशक हैं। राजनीतिक समीक्षक के साथ वे गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। वे 5 बेस्ट सेलर पुस्तकों – रीबूट- Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; द कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; द बक स्टॉप्स हीयर- The Buck Stops Here – लर्निंग ऑफ़ अ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and द बक स्टॉप्स हीयर- माय जर्नी फ़्राम अ मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं।                                         

  • ट्विटर : @gargashutosh                                                          
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56                                                     
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

Staying Healthy after Retirement

2. Reboot. Reinvent. Rewire Managing Retirement in the Twenty First Century

Keeping ourselves fit and healthy is important throughout our life. We owe this to ourselves. Fitness becomes even more important post retirement.

Those who are fit, feel better about themselves for a variety of reasons. In turn, this translates into a better self-image and enhanced self-confidence. These qualities have a positive effect in both your personal and professional lives. For these reasons, I would encourage everyone to strongly consider putting together a fitness program for yourself.

Exercise

Before you start a fitness program, especially those who have lived a sedentary lifestyle for an extended period of time, please consult a physician. Starting a vigorous exercise regime may not be wise and you could hurt or injure yourself.

Once your doctor has given you clearance, start setting goals. Goals are uniquely personal and whether your goal is to lose 5 kilos or complete a marathon, setting goals are important. Write your goal down and the period in which you want to achieve this goal and promise yourself a reward if you achieve your objective. Consider enlisting the services of a personal trainer or a work-out buddy to help you stay focused and encouraged.

Make exercise a part of your daily life, try to get 30 minutes of aerobic exercise 5 times a week. You do not necessarily have to go to a gym to work towards your fitness goal. A morning walk, and that too with friends in the neighbourhood can be a very enjoyable experience that keeps you fit as well. Just make sure that you don’t end your morning walk at the local “chai wallah” where you have chai and samosa after your walk.

Try to spend less time in front of the television and more time outside. Consider purchasing an exercise machine for your house that you can use while you watch television or join a neighbourhood gym. Such machines can be great investments, but only if used on a consistent basis though most people I know who own such machines use them for a few weeks and then these are used to “hang the towels” after a shower! A very expensive clothes drier indeed.

We have the time when we retire. We can take the time to walk or cycle to the market instead of driving. This is a great way to get your blood flowing and accomplish your errands at the same time. Walking or cycling can be easy or difficult depending on where you live, but many people can fit it into their routine if they are willing to expend a little time and effort.

If you are lucky enough to have a small child or grandchild in your family, you can schedule time to take them to nearby parks and other outdoor activities. It’s a lot of work to keep up with small children, and you’ll work up a sweat in no time.

Housework is painful, but it needs to be done. Work at home can help burn off excess calories. Vacuuming, washing dishes and other household chores will keep you moving. It’s much better to move around in the house than watch TV from the couch.

If you have access to a gym you must work out 45 minutes a day, five days a week. You also need to do light weights to maintain your muscles. Swimming, yoga, walking and other forms of exercise are equally good. What is important is to get into a routine that you follow consistently.

Exercising for a few days and then taking a few weeks off is not what I would call “regular exercise”! Doctors believe that working out for 6 days a week could add upto 2 years to your life.

There are many little things you can do which can change your level of fitness.

Think fitness every day and you will see and feel the results

Stress

Retirement is supposed to be the time when you relax. Managing your stress is critical to stay fit.

Retirement is a time when you are older and wiser and have the answers to many of life’s questions. A lot of retirees are stressed for a multitude of reasons. With ageing come new concerns, such as managing the increased time you spend at home and with your spouse, your health, making sure that your money does not run out in retirement and managing the stresses of your children.

In addition, of course, there is a general sense of “loss.”

Based on discussions with some doctors I have listed down a few points that could help in managing stress. Of course, if the problem is acute, you should consult a doctor and medication may be required.

  • Identify the cause of your stress. Write it down and find a solution to put your mind at ease. Discuss this with your friends and see how they are coping with their stresses.
  • Find a story that inspires you. Take some time to read and make notes of your learning. Then see how you can handle your own stress.
  • Learn to meditate. Practice deep breathing until you find yourself becoming calm. It is easier to do this when you think about things in life you are most thankful for.
  • Switch to your regular routine. If you enjoy spending time in a mall browsing, do that. Malls always offer something new and different. You can simply enjoy the ambience, the shops, and the interesting people who walk by.
  • Be purposeful about taking care of yourself. Enjoy some time outdoors to lift your mood and refresh your spirit.

You must learn to let go. Release the stress.

You were never in control anyway.

Regular medical checkups

I have often met people who refuse to get medical tests done. When asked the reason, their answer is that they do not wish to know what their health related problems are. Not getting your tests done because you are don’t wish to know your problems is a short sighted approach to living a long time in retirement.

Do you have a lifestyle disease like blood pressure, high cholesterol or diabetes? Are you asthmatic? Do you have any other problems for which you are taking regular medication?

Make sure you know what your health related issues are. Pull out all your old health reports you must have filed away carefully and write down your parameters to understand your own body and its challenges.

If you have a chronic condition, it is worth your while to schedule a test every quarter or every half year as recommended by your doctor.

Your doctor will advise you on what medication you need to take on a regular basis and how often you need to get your tests done.

On the other hand, given today’s commercialization of the healthcare, your doctor may recommend that you take several tests that may not even be relevant. Be very careful when your doctor recommends very expensive tests.

Get a complete medical checkup done when you retire. Remember that no one can monitor your health better than yourself.

*******************

The author is an Executive Coach and an Angel Investor. A keen political observer, he is also the founder Chairman of Guardian Pharmacies. He is the author of 5 best-selling books, Reboot. Reinvent. Rewire: Managing Retirement in the 21st Century; The Corner Office; An Eye for an Eye; The Buck Stops Here – Learnings of a #Startup Entrepreneur and The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur.

  •  Twitter: @gargashutosh
  • Instagram: ashutoshgarg56
  • Blog: ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

सेवानिवृत्ति के बाद स्वस्थ बने रहना

2. Reboot. Reinvent. Rewire Managing Retirement in the Twenty First Century

जीवनभर अपने आपको तंदुरुस्त और स्वस्थ बनाए रखना काफ़ी महत्वपूर्ण है। हम अपने प्रति खुद ही देनदार हैं। सेवानिवृत्ति के बाद तो स्वास्थ्य का महत्व और भी बढ़ जाता है।

जो तंदुरुस्त हैं, वे इस वजह से कई बातों में ख़ुद को बेहतर महसूस करते हैं। जो उनकी ही नज़र में अपनी छवि को पुख़्ता करता है और आत्मविश्वास बढ़ाता है। ये गुण आपके व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। इन कारणों से, मैं सभी को प्रोत्साहित करता हूँ कि वे अपने लिए दृढ़ता से फिटनेस कार्यक्रम तय करने पर विचार करें।

व्यायाम

फिटनेस कार्यक्रम शुरू करने से पहले, ख़ासकर वे लोग जिन्होंने लंबे समय तक आराम-तलब जीवन शैली व्यतीत की हैं, कृपया चिकित्सक परामर्श लें। कई बार ज़ोर-शोर से व्यायाम अभ्यास शुरू करना भी बुद्धिमानी नहीं हो सकती है, बल्कि आप खुद को आघात या चोट पहुँचा सकते हैं।

एक बार आपके डॉक्टर आपको मंजूरी दे देते हैं, तब आप लक्ष्य निर्धारित करना शुरू करें। लक्ष्य विशिष्ट रूप से व्यक्तिगत होते हैं, भले ही आपका लक्ष्य 5 किलोग्राम वज़न कम करना हो या मैराथन पूरी करना, कोई लक्ष्य निर्धारित करना महत्वपूर्ण है। अपना लक्ष्य और जिस अवधि में आप इस लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं, उसे लिख लें और यदि दी अवधि में आप अपना उद्देश्य प्राप्त कर लेते हैं तो अपने आप को इनाम दें। आपका ध्यान केंद्रित कराने और प्रोत्साहित करते रहने के सहायक के तौर पर व्यक्तिगत ट्रेनर या व्यायाम के साथी की सेवाओं को शामिल करने पर विचार करें।

व्यायाम को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाएँ, सप्ताह में 5 बार एरोबिक व्यायाम के लिए 30 मिनट निकालने का प्रयास करें। आपको अपने फिटनेस लक्ष्य की दिशा में काम करने के लिए जिम ही जाना जरूरी नहीं है। सुबह की सैर, और वह भी पड़ोसी दोस्तों के साथ बहुत ही सुखद अनुभव हो सकता है जो आपको फिट भी रखता है। बस इतना ध्यान रखें कि आपकी सैर पास के “चाय वाले” की गुमटी पर ख़त्म न हो, जहाँ आप सैर के बाद चाय के साथ समोसा भी ले लें।

टेलीविजन के सामने कम से कम समय और बाहर अधिक से अधिक समय बिताने का प्रयास करें। अपने घर के लिए व्यायाम मशीन खरीदने पर विचार करें, जब आप टेलीविजन देखते हैं तो इसका उपयोग कर सकते हैं, या पास के किसी जिम में जाना शुरू कर दें। ऐसी मशीनें बहुत अच्छा निवेश हो सकती हैं, लेकिन तभी जब इनका लगातार उपयोग किया जाता हो, हालाँकि मुझे पता है कि ज्यादातर लोग ऐसी मशीनों का उपयोग कुछ हफ्तों तक करते हैं और फिर उसके बाद इनका इस्तेमाल नहाने के बाद “तौलिए लटकाने” के लिए होने लगता है! ऐसे तो वास्तव में यह बहुत महंगा कपड़े सुखाने वाला उपकरण है।

जब हम सेवानिवृत्त होते हैं, हमारे पास समय होता है। हम इस समय का लाभ बाज़ार तक चलकर या साइकिल से जाने में कर सकते हैं, बजाए कि गाड़ी निकालें। इससे आपका रक्त संचार भी होगा और साथ ही यह आपके कामों को पूरा करने का शानदार तरीका है। आप जहाँ रहते हैं उसके आधार पर चलना या साइकिल चलाना आसान या कठिन हो सकता है, लेकिन बहुत से लोग अगर थोड़ा समय निकालते हैं और प्रयास करने की इच्छा रखते हैं तो इसे अपनी दिनचर्या में लाकर तंदुरुस्त रह सकते हैं।

यदि आप इतने भाग्यशाली हैं कि आपके परिवार में कोई छोटा बच्चा या पोता/पोती है, तो आप उन्हें पास के पार्क और अन्य बाहरी गतिविधियों के लिए ले जाने का समय निर्धारित कर सकते हैं। छोटे बच्चों के साथ रहने में बहुत मशक्कत होती है और आपका पसीना बहने में ज़्यादा समय नहीं लगेगा।

घर के काम कष्टदायी होते हैं, पर उन्हें करना पड़ता है। घर पर रहकर काम करना अतिरिक्त कैलोरी जलाने में मदद कर सकता है। साफ़- सफ़ाई, बर्तन धोना और अन्य घरेलू काम आपको चलायमान रखेंगे। सोफे पर बैठकर टीवी देखते रहने के बजाय घर में थोड़ा चलते-फिरते रहना बेहतर है।

यदि जिम आपके पास, आपकी पहुँच में है, तो आपको दिन में 45 मिनट, सप्ताह में पाँच दिन काम करना होगा। आपको माँसपेशियाँ मज़बूत बनाए रखने के लिए हल्के वजन उठाने के व्यायाम भी करने की आवश्यकता है। तैरना, योग, चलना और व्यायाम के अन्य प्रकार भी समान रूप से अच्छे हैं। महत्वपूर्ण है कि आप लगातार नियमित रूप से किसी व्यायाम का पालन करें।

कुछ दिन व्यायाम करना और फिर कुछ हफ्ते नहीं करना, इसे मैं “नियमित अभ्यास करना” नहीं कहूँगा! डॉक्टरों का मानना है कि सप्ताह में 6 दिनों तक व्यायाम करना आपके जीवन को 2 सालों तक बढ़ा सकता है।

ऐसी कई छोटी-छोटी आदतें हैं, जिन्हें आप कर सकते हैं, जो आपके फिटनेस के स्तर को बेहतर बना सकती हैं।

हर दिन फिटनेस के बारे में सोचें और आप ख़ुद परिणाम देखेंगे और महसूस करेंगे

तनाव

सेवानिवृत्ति वह समय माना जाता है, जब आप आराम कर पाते हैं। तंदुरुस्त रहने के लिए अपने तनाव का प्रबंधन करना महत्वपूर्ण है।

सेवानिवृत्ति ऐसा समय है जब आप वृद्ध और बुद्धिमान होते हैं और आपके पास जीवन के कई सवालों के जवाब होते हैं। कई सेवानिवृत्त लोग कई कारणों से तनाव में रहते हैं। वृद्धावस्था के साथ कई नई चिंताएँ आती हैं, जैसे कि घर पर आप ज़्यादा समय बिताते हैं और वह भी आप अधिकाधिक समय अपने जीवनसाथी के साथ होते हैं, आपको अपने स्वास्थ्य की चिंता सताने लगती हैं, आप यह तय कर लेना चाहते हैं कि आपका पैसा सेवानिवृत्ति के दिनों में ख़त्म न हो और आप अपने बच्चों के तनावों का भी हल खोजने की उलझन में होते हैं।

इसके अलावा, ज़ाहिर है, “नुकसान” की आम भावना भी होती है।

कुछ डॉक्टरों के साथ चर्चा के आधार पर मैंने कुछ बिंदुओं को सूचीबद्ध किया है जो तनाव प्रबंधन में मदद कर सकते हैं। बेशक, यदि समस्या तीव्र है, तो आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए और आपको दवा की आवश्यकता हो सकती है।

  • अपने तनाव के कारण को पहचानें। उसे लिख लें और अपने मन को आराम देने के लिए समाधान खोजें। इस बारे में अपने दोस्तों से चर्चा करें और देखें कि वे अपने तनाव का सामना कैसे कर रहे हैं।
  • वह कथा खोजें जो आपको प्रेरित करें। पढ़ने के लिए कुछ समय निकालें और जो आपने सीखा उसके नोट बनाएँ। फिर देखें कि आप अपने तनाव से कैसे पार पा लेते हैं।
  • ध्यान धारणा सीखें। जब तक आप खुद को शांत न महसूस करें, तब तक गहरी साँस लेने का अभ्यास करते रहे। तब ऐसा करना अधिक आसान हो जाता है, जब आप जीवन में उन चीजों के बारे में सोचते हैं, जिसके प्रति आप सबसे अधिक आभारी हैं।
  • अपनी नियमित दिनचर्या में परिवर्तन करें। यदि आप मॉल में जाकर कुछ नया देखने-खरीदने में समय बिताना पसंद करते हैं, तो ऐसा करें। मॉल हमेशा कुछ नया और अलग पेश करते हैं। आप केवल वहाँ के वातावरण, दुकानें और उन लोगों को देखने का आनंद ले सकते हैं जो वहाँ घूम रहे होते हैं।
  • अपना ख्याल रखने के बारे में एकाग्र रहें। अपने मन को प्रसन्न रखने के लिए कुछ समय बाहर निकलिए और अपने आपको तरोताज़ा कीजिए।

छोड़ो-जाने दो, की बात आपको सीखना चाहिए। तनाव मुक्त रहिए।

वैसे भी आप कभी भी नियंत्रण में नहीं थे।

नियमित चिकित्सा जाँच

मैं अक्सर उन लोगों से मिलता रहा हूँ, जो चिकित्सा जाँच कराने से इनकार करते  रहते हैं। जब उनसे कारण पूछा गया, तो उनका जवाब होता है कि वे अपनी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के बारे में जानना नहीं चाहते। अपनी समस्याओं के बारे में कुछ न जानने की मंशा से आपका परीक्षण नहीं कराना, आपके संकुचित दृष्टिकोण को दिखाता है, जिसकी वजह से आप सेवानिवृत्ति के लंबे समय को देख नहीं पा रहे हैं।

क्या आपको जीवनशैली संबंधी बीमारियाँ जैसे रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल या मधुमेह है? क्या आपको दमा (अस्थमा) हैं? क्या आपको कोई अन्य समस्या है जिसके लिए आप नियमित दवा ले रहे हैं?

सुनिश्चित करें कि आप अपने स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे जानते हैं। अपनी पुरानी स्वास्थ्य रिपोर्टों को बाहर निकालें, जिन्हें आपने बड़े करीने से कहीं दस्तावेज बना रखा होगा और अपने शरीर और इसकी चुनौतियों को समझने के लिए अपने मापदंड खुद लिखें।

यदि आपकी हालत गंभीर है, तो आपको डॉक्टर द्वारा अनुशंसित हर तिमाही या हर आधे वर्ष के परीक्षण निर्धारित कर लेना आपके लिए उपयुक्त है।

आपके डॉक्टर आपको सलाह देंगे कि आपको नियमित आधार पर कौन सी दवा लेने की आवश्यकता है और आपको कब-कब परीक्षण कराते रहने की आवश्यकता है।

दूसरी ओर, स्वास्थ्य देखभाल के आज के व्यावसायीकरण दौर को देखते हुए, डॉक्टर अनुशंसा कर सकते हैं कि आप कई परीक्षण करें जो प्रासंगिक न भी हों। जब डॉक्टर आपको बहुत महंगे परीक्षण कराने की सिफारिश करें, तो बहुत सावधान रहें।

सेवानिवृत्त हो जाने के बाद अपना पूरा मेडिकल चेकअप करा लें। ध्यान रखें कि कोई भी आपके स्वास्थ्य की उतनी बेहतर तरीके से निगरानी नहीं कर सकता है, जितनी आप खुद कर सकते हैं।

*******************

लेखक कार्यकारी कोच और एंजेल निवेशक हैं। राजनीतिक समीक्षक के साथ वे गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। वे 5 बेस्ट सेलर पुस्तकों – रीबूट- Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; द कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; द बक स्टॉप्स हीयर- The Buck Stops Here – लर्निंग ऑफ़ अ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and द बक स्टॉप्स हीयर- माय जर्नी फ़्राम अ मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं।

  • ट्विटर : @gargashutosh                                     
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56                                            
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com