वह ब्रांड, जो आप हैं – व्यक्तिगत ब्रांडिंग

6. The Brand Called You (low res)

ब्रांडिंग उतनी ही पुरानी है जितनी की स्वयं मानवता।

यह केवल 20 वीं शताब्दी के बाद हुआ जब विपणक और विज्ञापन विशेषज्ञ यह समझने लगे थे कि वे विशिष्ट गुणों और अपने उत्पादों की विशेषताओं से उपभोक्ताओं के मन में विशिष्ट धारणा बना सकते हैं, जो इससे पहले तक केवल किसी नाम के लेबल भर थे और सामान्य उत्पाद के रूप में उपस्थित थे।

इन विशेषज्ञों ने इस “धारणा” को “ब्रांड” कहना शुरू कर दिया।

ब्रांड एक कहानी है जिसे हमेशा बताया जाता रहा है।

पर्सनल ब्रांडिंग अपने बारे में जो सच और अनोखा है उसे उजागर करने और हर उस व्यक्ति को बताने के बारे में है जो इसके बारे में जानता है।

आपका नाम, आपका ब्रांड अपने ख़ास प्रभामंडल के साथ होता है जिसके वलय में पहले आप स्वयं आते हैं, उसके बाद आपका परिवार, तदुपरांत आपका समुदाय और फिर वह वृहत समाज जिसमें आप रहते हैं। आपके द्वारा चयनित प्रभाव वलय के मूल्य आपके ब्रांड में होने चाहिए।

व्यक्ति के रूप में अपने जीवन के प्रत्येक चरण मे आप खुद को लगातार मजबूत करते रहे हैं। किसी ब्रांड को उसके लक्षित श्रोताओं/दर्शकों द्वारा व्यक्तिगत अनुभव, संचार और प्रभाव के आधार पर देखा जाता है।

यही इसकी सफलता या विफलता को निर्धारित करता है। हममें से हर एक पर यही बात लागू होती है। हम समाज में और हमारे “लक्षित श्रोताओं/दर्शकों” के साथ कैसे बने रहते हैं, यही इस बात को निर्धारित करता है कि हम कितने मूल्यवान हैं या हो सकते हैं। आपका व्यक्तिगत ब्रांड आपका व्यावसायिक डीएनए है। यह आपका पेशेवर जीन अनुक्रम है।

हर सफल व्यक्ति ने बड़ी मेहनत से अपने ब्रांड का नाम बनाया है।

याद रखें कि आपका नाम एक ब्रांड है जिसे आप वास्तव में अपना मानते हैं। आप अद्वितीय हैं। आप उतने ही अद्वितीय हैं, जैसे कि आपकी अंगुली की छाप (फिंगरप्रिंट) या आपका रेटिना स्कैन या आपका जीन अनुक्रम।

आपके नाम के साथ आपका ब्रांड आपके कर्मों और निवेशों के माध्यम से एक ब्रांड के रूप में आपके जन्म प्रमाण पत्र के माध्यम से पंजीकृत किया गया है और वह आपके व्यक्तित्व के लिए पेटेंट किया गया है, भले ही आपके समान नाम वाले सैकड़ों दूसरे लोग भी हों।

आपके जैसा दुनिया में कोई और नहीं है और इसलिए आपको अपने आप को अपने वातावरण में निवेश करना होगा और अपने कामों और कार्यों के ज़रिए अपने खुद के ब्रांड को पहचान और सम्मान दिलाना होगा। आपकी पहुँच जितनी अधिक होगी, आपके ब्रांड को इस तरह के उतने ही अधिक निवेश की आवश्यकता होगी। जितना आपका ब्रांड अधिक प्रसिद्ध और बड़ा होता चला जाएगा, भविष्य में उसके आलोचनीय होने की आशंका भी उतनी ही अधिक होगी।

आपके लिए यह जानना अधिक से अधिक विकट होता चला जाएगा कि आपके द्वारा उठाया हर कदम या आपका दिया हर बयान, आपके द्वारा की गई प्रत्येक ट्वीट, आपके द्वारा पोस्ट की गई प्रत्येक तस्वीर, आपके द्वारा लिखा गया प्रत्येक ब्लॉग, आपकी पसंद की हर पोस्ट, जिसे आप लिखते या साझा करते हैं, आपके द्वारा दी गई हर राय किसी के द्वारा पढ़ी जा रही है और उसकी व्याख्या हो रही है। आप यह जान भी नहीं पाते कि आपके हर काम का प्रभाव या आपका हर काम ‘ब्रांड आप’ के मूल्य को बढ़ा या घटा रहा है। आपके व्यक्तिगत ब्रांड को बनाना, तैयार करना और उसका विकास करना केवल आपके हाथों में ही है। इसी के साथ, ठीक इसके विपरीत, अपने खुद के ब्रांड को नष्ट करना या कम करना भी केवल आपके ही हाथों में है।

आप अपने खुद के ब्रांड नाम के साथ क्या कर सकते हैं, तो या तो उसे बहुत सफल बना सकते हैं या उतना सफल नहीं कर सकते हैं, बस इस अंतर को पाटना है। यह व्यक्तिगत ब्रांडिंग के लिए भी उतना ही सही है जितना कि बिजनेस ब्रांडिंग के लिए। आपका ब्रांड आपकी अपनी अनूठी कहानी का सार है। एक कुंजी है जो आपके खुद के भीतर गहराई तक पहुँच रही है और प्रामाणिक, अद्वितीय “आप” को अपने स्वयं के भीतर से बाहर खींच रही है।

अन्यथा, आपका ब्रांड सिर्फ एक बहाना होगा और आप खुद विस्मित होंगे कि क्या आप उस बहाने के पीछे छिपे व्यक्ति को पहचानते हैं, जो स्वयं आप हैं।

आपके पास आपके द्वारा चुने गए करियर पथ को बनाने की स्वतंत्रता है। ऐसा रास्ता जो आपकी प्रतिभा और रुचियों को उस स्थिति से जोड़ेगा जिसमें आप फिट हैं। आपमें अपने कैरियर में ऊँचा उठने और विस्तार पाने (लंबवत और क्षैतिज रूप में) की क्षमता होनी चाहिए।

आज जो नायक है, वह आने वाले कल में शून्य हो सकता है या इसके विपरीत भी हो सकता है कि जो आज ज़ीरो है, वह कल हीरो बन जाए।

आपके ब्रांड का मूल्य ताउम्र उतार-चढ़ाव से गुज़रेगा। सफ़लतम वर्ष बीतने के बाद बड़े पैमाने पर होने वाली वेतन वृद्धि के बारे में बातचीत करने की आपकी क्षमता से अधिक आपकी क्षमता इसमें होनी चाहिए कि एक ख़राब साल बीता हो और आपके लक्ष्य पूरे न हो सके हों, तब आप क्या करेंगे।

आपके अपने ब्रांड का मूल्य वह है जो आपको वह कीमत देगा जो आप चाह रहे हैं। अच्छी तरह से बने आपके ब्रांड से आप पा सकते हैं कि प्रतिष्ठित पदोन्नति या अगली वरिष्ठ नौकरी। यह ब्रांड मूल्यांकन आपको यह निर्धारित करने में भी मदद कर सकता है कि आप अपने लिए क्या पाने में सक्षम हैं, जिस कारण आप और आपका नाम किसी और के व्यवसाय में जुड़ सकता है। यह आपके समाज में, आपके देश या पूरी दुनिया में मान्यता और स्वीकृति के रूप में भी हो सकता है।

कोई फिल्म स्टार लगातार दो हिट फिल्में देने के बाद बड़ी फीस की मांग कर सकता है, लेकिन उसे भी तब अपनी कीमतों को गिराना होगा या शायद लगातार तीन फ्लॉप फिल्मों के बाद किसी के लिए बिना पैसे लिए भी काम करना पड़ सकता है! जब तक आप अपने आपको और अपनी स्वयं की वास्तविकता को नहीं पहचानते और स्वीकार नहीं करते हैं, तब तक आपके अपने ब्रांड के बारे में बहुत कुछ नहीं कर सकते हैं। सरकार या कॉरपोरेट जगत के बहुत से लोग अपने करियर में जैसे-जैसे आगे बढ़ते हैं, यह मानने लगते हैं कि उनके संगठन के ब्रांड की पहचान उनके अपने ब्रांड नाम से है। जिसका सत्य से वास्तव में दूर-दूर तक कोई संबंध नहीं होता है।

जब कोई कॉर्पोरेट प्रबंधक या सरकारी अधिकारी किसी मीटिंग (बैठक) के लिए अपना विजिटिंग कार्ड भेजता है, तो वह उस कंपनी या संस्थान के नाम का होता है जिसकी पहचान है और उसके लिए बैठक के द्वार खोले जाते हैं। कई सारे सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी और कॉर्पोरेट प्रबंधक यह स्वीकार नहीं कर पाते कि सेवानिवृत्ति के बाद उनकी अपनी पहचान खो गई है। वे “पूर्व अध्यक्ष” या सरकार के “पूर्व सचिव” के रूप में अपनी पहचान बनाए रखना चाहते हैं। यह कठिन और कमजोर धागा है जो उन्हें उनकी कथित पहचान से जोड़ता है और लोग इस बात को छोड़ नहीं पाते कि वह धागा सेवानिवृत्ति के दिन ही टूट चुका है।

आपके व्यक्तिगत ब्रांड को बनाते हुए कभी भी अहंकार को बीच में नहीं आने देना चाहिए। आपके ब्रांड के मूल्य में आपको बड़ी कुशलता से इस बात को बुनना चाहिए कि वह भौतिक रूप और व्यक्तिगत अहंकार से परे होना चाहिए।

जीवन का चक्र जारी रहेगा, और आपका व्यक्तिगत ब्रांड अपने कद और मूल्य के साथ उसी तरह बढ़ता रहेगा।

याद रखें कि दुनिया में आपके बाद आपके पीछे आपकी जो विरासत रहेगी वह केवल आपका नाम होगा और होगा- ‘आप ब्रांड’।

*******************

लेखक कार्यकारी कोच और एंजेल निवेशक हैं। राजनीतिक समीक्षक और टीकाकार के साथ वे गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। वे 6 बेस्ट सेलर पुस्तकों – द ब्रांड कॉल्ड यू- The Brand Called You रीबूट- Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; द कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; द बक स्टॉप्स हीयर- The Buck Stops Here – लर्निंग ऑफ़ अ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and द बक स्टॉप्स हीयर- माय जर्नी फ़्राम अ मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं।

  • ट्विटर : @gargashutosh                                                          
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56                                                     
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s