सेवानिवृत्त हो गया – अब मैं क्या करूँ?

2. Reboot. Reinvent. Rewire Managing Retirement in the Twenty First Century

तो आपका सेवानिवृत्ति का समय आ गया है और अब आप सोच रहे हैं कि आगे क्या करना है? हम में से अधिकांश अपनी सेवानिवृत्ति को लेकर कोई योजना नहीं बनाते हैं, और बहाने बनाते हुए ख़ुद से कड़ी बहस करते रहते हैं कि जब होगा तब देखा जाएगा।

तब भी, अनिवार्यत: सेवानिवृत्ति का समय आता है और हम उसके बाद के अपने जीवन का सामना करने के लिए तैयार नहीं होते हैं। बीते तीन दशकों में मेहनत से काम करते हुए आपने अपने लिए यह फुर्सत का फल पाया है।

अब भी आपको अपना दिमाग और शरीर सक्रिय रखना है। अधिकतर लोग कोई न कोई रूचि विकसित करने लगते हैं। लेकिन हमें अन्य विकल्पों को क्यों देखना चाहिए जबकि हमारे पास पहले से ही कई विकल्प मौजूद हैं।

किताब लिखें –आम तौर पर यह माना जाता है कि हर किसी के “भीतर” कम से कम एक किताब छिपी होती है। जब मैंने अपनी पहली पुस्तक लिखी उसके बाद मेरे कई मित्रों-परिचितों ने मुझे बताया कि वे भी लिखना चाहते हैं पर उन्हें समय ही नहीं मिल पाता। यदि आप लिखने के लिए कुछ सोच नहीं पा रहे हैं तो आपके पास जीवन भर की संचित यादें और अनुभव तो हैं ही। अपनी इन यादों को संस्मरण की तरह एक जगह दर्ज करने का विचार कीजिए, जिसे आप अपने नाती-पोतों को दे सकें।

यदि आपको लिखना अच्छा लगता है , तो अब समय है कि आप अपनी किताब लिखने के बारे में विचार करें। अपनी विरासत पीछे छोड़ जाने का किताब लिखने से बेहतर कोई तरीका नहीं है। मैं ऐसे कुछ लोगों को जानता हूँ जिन्होंने वीडियो प्रारूप में अपना जीवन रिकॉर्ड करना शुरू किया है।

वे इसे अपने स्मार्ट फोन पर रिकॉर्ड करते हैं और अपनी टिप्पणियों को वाचनालय का रूप दे रहे हैं, जिसे आने वाली पीढ़ी के लिए छोड़कर जा सकें। माध्यम जो भी हो, याद रखें कि इसके लिए बहुत सारी तैयारी की आवश्यकता है।

कोई भाषा सीखें– कुछ दोस्तों ने कोई नई भाषा सीखना शुरू किया है, बचपन से उनकी यह आकांक्षा थी लेकिन इसके लिए उन्हें कभी समय नहीं मिला था।

मैं एक ऐसे वरिष्ठ सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर को जानता हूँ जिन्होंने सेवानिवृत्ति के बाद स्पेनिश भाषा पढ़ाने का करियर अपनाया है। इससे न केवल वे खुद बहुत व्यस्त रहते हैं बल्कि वे उन नए लोगों के समूह से भी जुड़ते हैं, जिनसे मिलने का इसके पहले उन्हें कभी मौका नहीं मिला था। अब वे स्पेनिश से अंग्रेजी में व्याख्या करते हैं और आए दिन दुभाषिया के रूप में स्पेन की यात्रा करते हैं।

उन स्थानों की यात्रा करें जहाँ आप जाना चाहते थे –मैं कई दंपत्तियों से मिला हूँ, जिन्होंने उन स्थानों की यात्रा करने और उन्हें देखने का फैसला किया है, जिन स्थानों की वे अपने कामकाजी जीवन के दौरान यात्रा नहीं कर पाए थे। अब यह अंतर आया है कि अब जब वे यात्रा करते हैं तो वे उस शहर या देश में अधिक समय बिता पाते हैं, जहाँ वे जाना चाहते थे। अब पहले वे अपने गंतव्य के बारे में पढ़ते हैं और अधिक से अधिक स्थानीय स्वाद का आस्वाद लेने का प्रयास करते हैं न कि इतने देशों को देख लिया पर “टिकिंग” करते हुए भागते चले जाते हैं।

जब मैं कामकाजी था, तब जब हम छुट्टियों में यात्रा करते थे तो हम हमेशा जगहों को देखने की जल्दी में  रहते थे क्योंकि हम दोनों पर काम का दबाव हमें एक शहर में ज्यादा समय बिताने की इजाजत नहीं देता था। हमारा यह बहाना तय होता था कि हम उन स्थानों को देखने दुबारा आ सकते हैं जो हमने अभी देखे हैं और हमें पसंद आए हैं। अब जब हम यात्रा करते हैं, तो हम उस देश में कम से कम एक सप्ताह बिताते हैं और जितना संभव हो उतना देख सकने की कोशिश करते हैं। अब हमारी सोच यह है कि जितना संभव हो हमें उतना देख लेना चाहिए क्योंकि शायद अब हम इस जगह पर फिर कभी वापस नहीं आ सकेंगे।

संयुक्त राज्य अमेरिका में ऐसे सेवानिवृत्त लोगों का पूरा समुदाय है जिन्होंने अपने घर बेच दिए हैं और दुनिया भर की यात्रा करने का फैसला लिया है। वे दुनिया के किसी ऐसे हिस्से का चयन करते हैं जिसे वे देखना चाहते हैं और फिर कुछ महीनों तक वहाँ जाकर रहते हैं। इसके लिए आवश्यक धनराशि उन्हें हर महीने उनके वित्तीय योजनाकार द्वारा भेज दी जाती है, जो इस बात पर निर्भर करती है कि वे किस शहर में रह रहे हैं। बेशक, अमेरिकी नागरिक होने से हमारे भारत के वीज़ा प्रतिबंधों की तुलना में उनके लिए यात्रा करना काफी हद तक आसान होता है, लेकिन हम भारत के विभिन्न हिस्सों में घूमकर बहुत कुछ ऐसा कर सकते हैं, जिन स्थानों को हमने कभी नहीं देखा है। भारत के किसी दूसरे हिस्से में एक महीना रहने की आशा बहुत ही रोमांचक है।

दूसरों की मदद करें –भला मानस बनकर लोगों की मदद करना अमूमन नहीं दिखता है। अपने दायरे से निकलकर दूसरों की मदद करने के प्रति बहुतेरे लोग नकचढ़े होते हैं।

तब भी ऐसे लोग हैं जो निःस्वार्थ भाव से सेवा करते हैं।

मैं एक सेवानिवृत्त जनरल से मिला था, जिसने अपना जीवन सेवानिवृत्ति के बाद मृत हुए जवानों की विधवाओं के लिए समर्पित कर दिया जबकि रक्षा सेवाओं के अन्य अधिकारी अपने कागज़ी कामकाजों और यह सुनिश्चित करने कि उनकी पेंशन और चिकित्सा सुविधाओं के सभी दस्तावेज उचित थे, में ही उलझे रहे। उस सेवानिवृत्त जनरल को बदले में कुछ नहीं मिला, लेकिन फिर भी उसने महसूस किया कि यह उसका गुज़र गए अपने “भाई” अधिकारियों के प्रति फर्ज था।

कॉलेज में लौटें– ऐसी कई चीजें ज़रूर होंगी जिनकी आपने अपने कॉलेज के माध्यम से सीखने की इच्छा की होगी और आपके पास उनके लिए कभी भी समय रहा होगा। क्या आपने कभी सोचा कि आप शोध पत्र तैयार कर सकते हैं और पीएचडी प्राप्त कर सकते हैं और अपने नाम के आगे “डॉक्टर” शीर्षक लगा सकते हैं? अब आप कर सकते हैं। यदि आप अपनी पसंद के किसी भी क्षेत्र में और अधिक शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, तो अब अवसर है क्योंकि अब आपके पास समय है और आपका उस ओर झुकाव है। मैं एक ऐसे व्यक्ति से मिला जो गणित विषय को लेकर दीवाना था लेकिन उसने विपणन में करियर बनाया था। जब वह सेवानिवृत्त हुआ, तो विश्वविद्यालय वापस गया और गणित में डॉक्टरेट प्राप्त की!

ज्यादातर लोग जो कुछ करने के इच्छुक है, उनके लिए नई चीजों को सीखने में रोमांच है।

जीवन के / कार्यकारी कोच बनें – आपने अपने कामकाजी जीवन में कई कौशल विकसित किए हैं। यह खेल में उत्कृष्टता या एकाउंटेंट (लेखापाल), वकील के रूप में या संगीत, कला, लेखन आदि में कौशल हो सकता है। आप अपने घर में वयस्कों और युवतर वयस्कों के लिए आसानी से कोचिंग कक्षाएँ शुरू कर सकते हैं। यह न केवल आपको कुछ करने की भावना देगा और आपको व्यस्त रखेगा, बल्कि आप पाएँगे कि इससे आप कुछ पैसे भी कमा सकते हैं।

खाना बनाना सीखें – मुझे किसी ने बताया है कि खाना बनाना बहुत ही चिकित्सीय प्रक्रिया हो सकती है क्योंकि आप नित नए व्यंजन बनाते हैं। खाना बनाना सीखिए। आमलेट बनाने जैसे आसान खाद्य पदार्थों से शुरू करें, धीरे-धीरे आपको वे बारिकियाँ समझ आने लगेंगी कि किस पदार्थ को कितनी देर उबालना है और कितनी देर तक भाप देनी है…कौन-से मसाले आँखों में आँसू लाते हैं और कितना अनुपात सही होगा, उसके बाद आप अपने दोस्तों-परिवार के लोगों को अपनी ख़ुशी बाँटने का न्यौता दे सकते हैं।

अपने दैनिक भोजन की योजना बनाना एक बड़ा काम है और यदि आप और आपके जीवनसाथी इसे हर सुबह नियमित रूप से करते हैं, तो आप दोनों के बीच संवाद होगा और आप हर भोजन में क्या खाएँगे इस पर आपसी सहमति बनेगी!

संगीत सीखें –मैं ऐसे कई लोगों को जानता हूँ जिन्होंने कोई न कोई वाद्ययंत्र सीखना शुरू किया है। पियानो,गिटार और वायलिन आमतौर पर अधिक लोकप्रिय वाद्य होते हैं जिन्हें लोग सीखना पसंद करते हैं।

मैं भी जब कॉलेज में था भारतीय बाँसुरी बजाना सीख रहा था लेकिन बाद में छोड़ दिया था। अब मैंने फिर से बाँसुरी बजाना शुरू किया है और इस बार, चूँकि मेरे पास अधिक समय है, मैं अच्छे से बाँसुरी बजा पाऊँ इसे लेकर अधिक दृढ़ संकल्पित हूँ!

पठन – मैं कुछ दोस्तों को जानता हूँ जिन्होंने जुनून के साथ किताबें, पत्र- पत्रिकाएँ और समाचार पत्रों को पढ़ना तय किया है। उनके बिस्तर के पास कम से कम तीन किताबें होती हैं और उन्हें वे लगातार पढ़ते हुए खुद को समृद्ध कर रहे हैं। जब वे काम करते थे तो किताबें पढ़ने से चूक गए थे और अब मैं यह देखकर सुखद हैरत में हूँ कि उनमें से कई वास्तव में हर हफ्ते कई किताबों को पढ़कर ख़त्म कर रहे हैं। जब उनके पास समय होता है, तो वे स्थानीय किताबों की दुकानों को खंगाल डालते हैं और जो कुछ भी पसंद आता है, उसे खरीद लेते हैं।

सोशल मीडिया में शामिल होकर अपना प्रोफाइल बनाएँ – ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने विभिन्न अनुभवों को साझा करने और विभिन्न विषयों पर अपने विचार प्रसारित करने के लिए विभिन्न सोशल मीडिया मंचों के साथ जुड़ना शुरू किया है। आप जो कहना चाहते हैं उसे कहने की आज़ादी आपको सक्षम बनाती है और आपके लिए प्राणदायी होती है। वैश्विक सार्वजनिक मंचों पर खुद को व्यक्त करने की यह क्षमता कई लोगों को व्यस्त, मशगूल और कार्यरत रखती है।

साथ ही साथ मैंने कई सेवानिवृत्त लोगों से मुलाकात की जिन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि वे कंप्यूटर का उपयोग करने से डरते थे इसलिए सोशल मीडिया का उपयोग करने का तो सवाल ही नहीं था। जब मैं उन्हें बताता हूँ कि मेरे 87 वर्षीय पिता हर समय फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्विटर का उपयोग करते हैं, तो वे इस बात पर राजी होते हैं कि वे भी प्रयास करेंगे।

पालतू पशु रखिए – पालतू पशुओं से प्रेम करने वाले कुछ जोड़ें श्वान पालते हैं जो घर में लगभग नए बच्चे की तरह बन जाते हैं। उनकी सारी जागृत ऊर्जा कुत्ते की देखभाल करने में खर्च हो जाती है और इससे उन्हें ऐसे लोगों के साथ बातचीत का अवसर भी मिलता है जो उन्हीं की तरह समान विचार और सोच रखते हैं।

मैंने पालतू जानवरों के आसपास विकसित सम्मिलित अधिकार का सामाजिक दायरा देखा है। कितना सारा समय पालतू जानवरों के बारे में बात करने में बीत जाता है कि ऐसा लगता है कि हम अपने बच्चों और उनकी उपलब्धियों के बारे में फिर से बात कर रहे हैं!

टेलीविजन देखें – सौ से अधिक टेलीविज़न चैनलों के साथ, नियमित आधार पर अनुसरण करने के लिए सचमुच दर्जनों धारावाहिक और सूचना आधारित चैनल हैं। आपको अपने जीवनसाथी से चुनौती मिल सकती है जब आपमें से एक समाचार का चैनल देखना चाहता है जबकि दूसरा कुछ और… और मैंने कई घरों में देखा है कि घर में शांति बनी रहे इसलिए उन्होंने दो टेलीविज़न खरीद लिए हैं!

अपने पुराने स्टाम्प और सिक्के के संग्रह को बाहर निकालें – हममें से अधिकांश के पास पुराने सिक्कों और पुराने स्टाम्प का संग्रह हुआ करता था। आपमें से कुछ भाग्यशाली होंगे जिन्हें अपने पिता से यह संग्रह मिला हो सकता है और मुझे पक्का यकीन है कि आपके बच्चों को इन संग्रहों में कोई दिलचस्पी नहीं होगी।

तो अब यह उन सिक्कों और टिकटों को फिर से जमा करने का समय है। आपके पास मौजूद प्रत्येक वस्तु की आप इंटरनेट पर जाँच कर उसे सत्यापित कर सकते हैं। आप ई-बे पर जाकर इनकी कीमत भी प्राप्त कर सकते हैं। आप अपने संग्रह में दुर्लभ स्टाम्प या दुर्लभ सिक्के को पाकर सुखद आश्चर्य में पड़ सकते हैं और इससे आपको यह भी लग सकता है कि आप बहुत अमीर व्यक्ति हैं।

गोल्फ और अन्य खेल खेलिएँ – खेल सेवानिवृत्ति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह आपको ठीक-ठाक रखने और नियमित रूप से माँसपेशियों के अभ्यास कराने में भी मदद करता है। यदि आप खिलाड़ी रहे हैं तो आपके लिए सेवानिवृत्ति के बाद पूरे जीवन भर में थोड़े हल्के-फुल्के खेल जारी रखना आसान होगा, लेकिन यदि आप एक खिलाड़ी नहीं हैं, तो इसे दैनिक गतिविधि का नियम बनाकर शुरू करने का अच्छा समय है। कई लोगों ने अपने स्थानीय क्लब या सह-स्वामित्व के स्थान को टेनिस खेलने के लिए लिया है। यह उन्हें व्यायाम करने और नए और पुराने दोस्तों के साथ सामाजिक होने की क्षमता देता है।

ब्रिज या ताश के पत्तों का अन्य खेल खेलें – कुछ सेवानिवृत्त लोगों ने ब्रिज खेलने में अपना समय बिताने का फैसला किया है। वे अलग-अलग क्लबों और अलग-अलग भागीदारों के साथ खेलते हैं ताकि रोज़ कुछ नया अनुभव हो सकें। रविवार को, वे आराम करते हैं! इनमें से कुछ ब्रिज खिलाड़ी अब राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धी ब्रिज में भाग ले रहे हैं।

कुछ भी करें और अपराध मुक्त महसूस करें – मुझे पता है कि 30 साल के कैरियर में पड़ी आदत को बदलने में कुछ समय लगेगा। एक व्यक्ति जिससे मैंने मुलाकात की उसने बहुत स्पष्ट कहा था कि उसने “कुछ भी नहीं करने” का विकल्प चुना था। उन्होंने कहा पढ़ना, सोना और दिन में ख़्वाब देखना, मेरी सेवानिवृत्ति के बाद हर पल की इतनी ही आवश्यकता होगी। वे पास की कॉफी की दुकान में बहुत सारा समय बिताते हैं, जहाँ नए दोस्तों से मिलते हैं और कॉफी के घूँट पीते हुए घंटों नेट सर्फिंग करते रहते हैं!

या आप उपरोक्त सूचीबद्ध कई गतिविधियों का संयोजन कर सकते हैं। यह सूची किसी भी तरह से पूर्ण नहीं है और ऐसी कई अन्य गतिविधियाँ हो सकती हैं जिन्हें आप कर सकते हैं।

यदि आप हर मिनट का उत्पादक उपयोग नहीं कर रहे हैं तब भी अपराध की उस घबराहट भावना से खुद को मुक्त रखने की योजना बनाइए। यदि आप सुबह सुकूनभरे समय में बालकनी में कॉफी लेकर बैठे रहना तय करते हैं, तो वैसा कीजिए।

शुभ सेवानिवृति !

*******************

लेखक गार्डियन फार्मेसीज के संस्थापक अध्यक्ष हैं. वे ५ बेस्ट सेलर पुस्तकों – रीबूट- Reboot. रीइंवेन्ट Reinvent. रीवाईर Rewire: 21वीं सदी में सेवानिवृत्ति का प्रबंधन, Managing Retirement in the 21st Century; द कॉर्नर ऑफ़िस, The Corner Office; एन आई फ़ार एन आई An Eye for an Eye; द बक स्टॉप्स हीयर- The Buck Stops Here – लर्निंग ऑफ़ अ # स्टार्टअप आंतरप्रेनर और Learnings of a #Startup Entrepreneur and द बक स्टॉप्स हीयर- माय जर्नी फ़्राम अ मैनेजर टू ऐन आंतरप्रेनर, The Buck Stops Here – My Journey from a Manager to an Entrepreneur. के लेखक हैं.

  • ट्विटर : @gargashutosh                                      
  • इंस्टाग्राम : ashutoshgarg56                                      
  • ब्लॉग : ashutoshgargin.wordpress.com | ashutoshgarg56.blogspot.com

 

One thought on “सेवानिवृत्त हो गया – अब मैं क्या करूँ?

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s